bribe

    औरंगाबाद. रेत (Sand) के ठेकेदार (Contractor) से ड़ेढ लाख रुपए की रिश्वत (Bribe) लेते हुए औरंगाबाद (Aurangabad) के अपर तहसीलदार (Additional Tehsildar) किशोर देशमुख को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के जालना यूनिट (Jalna Unit) ने रंगे हाथों गिरफ्तार (Arrested) किया है। एसीबी (ACB) के इस कार्रवाई से राजस्व विभाग के रिश्वतखोर अधिकारियों में खलबली मची है। आरोपी अतिरिक्त तहसीलदार किशोर देशमुख के खिलाफ शहर के वेदांत नगर थाना में मामला दर्ज किया गया है। 

    एसीबी के एसपी डॉ. राहुल खाडे ने बताया कि शिकायतकर्ता  रेती का ठेकेदार है। सरकार के अधिकृत रेती के टेंडर से रेत यातायात के दौरान पकड़े गए वाहनों की बेहतर रिपोर्ट पुलिस स्टेशन को भेजने और टेंडर की रेत हायवा द्वारा हर माह यातायात करने देने के लिए आरोपी ने शिकायतकर्ता से 10 मार्च को 4 लाख 70 हजार की रिश्वत मांगी थी। शिकायत कर्ता की रिश्वत देने की इच्छा न होने से उसने इसकी शिकायत एसीबी के जालना यूनिट में की। इधर, आरोपी ने हायवा से हर माह यातायात करने के लिए डेढ़ लाख तत्काल देने को कहां।

     एसीबी के जालना यूनिट ने की कार्रवाई

    उधर,  शिकायतकर्ता ने सोमवार की देर रात आरोपी को रिश्वत देने का तय किया। उसके अनुसार शहर के रेलवे स्टेशन रोड़ पर स्थित एमटीडीसी के गेस्ट के हाउस के सामने आरोपी किशोर देशमुख को एसीबी के जालना यूनिट ने ड़ेढ लाख की  रिश्वत लेते हुए देर रात रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। यह कार्रवाई एसीबी के एसपी डॉ. राहुल खाडे, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. अनिता जमादार के मार्गदर्शन में पुलिस उपाधीक्षक रविन्द्र निकालजे, पीआई शेख, कांस्टेबल ज्ञानेश्वर मसके, जावेद शेख, गणेश चेके आदि ने पूरी की।