MP Bhagwat Karad

    औरंगाबाद. नांदेड-मनमाड रेलवे मार्ग (Nanded-Manmad railway route) के बिजलीकरण (Electrification) के काम को रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) ने मंजूरी (Sanction) दी है। आगामी माह के प्रथम सप्ताह में इस कार्य का उद्घाटन रेल मंत्री पीयुष गोयल के हाथों किया जाएगा। यह जानकारी भाजपा के राज्यसभा सांसद डॉ. भागवत कराड (MP Dr. Bhagwat Karad) ने आयोजित प्रेस वार्ता में दी।

    उन्होंने बताया कि औरंगाबाद रेलवे के विविध विकास कामों को मान्यता मिली है। रेलवे   बजट में मनमाड से नांदेड बिजलीकरण का काम जल्द शुरु होगा। शहर से सटे चिकलथाना में पीट लाइन को लेकर रेल मंत्रालय सकारात्मक है। सांसद कराड ने बताया कि औरंगाबाद-अहमदनगर-पुणे मार्ग पर शहर में ओवरब्रीज और अंडर बाइपास का काम भी जल्द शुरु होगा। इस कार्य के निर्माण के लिए राज्य सरकार का उनका हिस्सा देने के बारे में पत्र दिया गया है। 

    शिवाजीनगर के भूमिगत मार्ग पर खर्च होंगे 38 करोड़ 60 लाख रुपए 

    सांसद डॉ. भागवत कराड ने बताया कि रेलवे की ओर से शरणापुर गेट क्रमांक-47 पर ओवर ब्रिज, एमआइडीसी परिसर में स्थित एकनाथ नगर में गेट क्रमांक-53, शिवाजी नगर गेट क्र-55, मुकुंदवाडी गेट क्र-56 और करमाड में भूमिगत मार्ग का निर्माण कार्य किया जाएगा। इसमें शहर के लिए सबसे महत्वपूर्ण शिवाजी नगर के भूमिगत मार्ग पर 38 करोड़ 60 लाख रुपए खर्च होंगे। सांसद कराड ने बताया कि मुकुंदवाडी, शरणापुर भूमिगत मार्ग के काम के लिए रेलवे बोर्ड ने मान्यता दी है। मराठवाड़ा के रेलवे प्रश्नों को हल करने को लेकर सभी सांसदों को साथ लेकर काम किया जाएगा। इसमें औरंगाबाद के एमआईएम सांसद इम्तियाज जलील को भी साथ लेकर काम किया जाएगा। डॉ. कराड ने बताया कि मराठवाड़ा की रेलवे समस्याएं हल करने के लिए उन्होंने हाल ही में रेल मंत्री पीयुष गोयल, रेलवे बोर्ड के चैयरमैन सुमित शर्मा, पुमेंड मिश्रा, व्यवसाय और कार्यान्वयन प्रदीप कुमार, सुविधा बोर्ड तथा रेलवे पुल के कार्यकारी  संचालक सिंगल से मुलाकात कर चर्चा की है। प्रेस वार्ता में विधायक अतुल सावे, शहराध्यक्ष संजय केणेकर, पूर्व मेयर भगवान घडामोडे, समीर राजूरकर, राजेश मेहता, राजू शिंदे, शिवाजी दांडगे, अनंत बोरकर उपस्थित थे।