डाका डालने की कोशिश नाकाम, 3 गिरफ्तार

  • पुणे-अहमदनगर की टोली का पर्दाफाश

औरंगाबाद. शहर पुलिस आयुक्तालय के  जिन्सी पुलिस ने डाका डालने की तैयारी में देर रात घूम रहे पुणे और अहमदनगर की टोली का पर्दाफाश करने में कामयाबी हासिल की है. पुलिस की कार्रवाई में डकैतों की टोली के 5 में से 3 सदस्य पुलिस के गिरफ्त में आए, जबकि 2 सदस्य फरार होने में कामयाब हो गए. पुलिस ने उन संदिग्ध डकैतों से स्टील का बड़ा पाईप, लोहे का रॉड, एयरगन, रस्सी, मिर्ची पावडर आदि डाका डालने में इस्तेमाल होनेवाला सामान जप्त किया. पकडे़ गए डकैतों को न्यायालय में पेश करने पर उन्हें 18 अक्टूबर तक पुलिस हिरासत में रखने के आदेश दिए गए.

2 डकैत फरार 

जिन्सी थाना के पुलिस निरीक्षक वीएम केन्द्रे ने बताया कि गुरुवार को रात 12 बजे के बाद जिन्सी  पुलिस सावरकर चौक से मौलाना आजाद चौक गश्त लगा रही थी. गश्त के दरमियान पुलिस को एमएमच 12 अेएफ 5104 कार संदिग्ध कार घूमते हुए नजर आयी. उस समय गश्त लगा रहे पुलिस कर्मचारी नजीर पठान और संतोष वाघ ने उस संदिग्ध कार का पीछा शुरु किया. तभी संदिग्ध डकैत रोड के किनारे वाहन रोककर फरार होने लगे. पुलिस ने उन डकैतों का पीछा कर 3 को गिरफ्तार किया, जबकि 2 डकैत फरार होने में कामयाब हुए. पकडे गए डकैतों की पहचान 24  वर्षीय सुनील अंकुश मलेकर निवासी चाकण जिला पुणे, 26 वर्षीय शेख नसीर  शेख बशीर निवासी करंजगांव तहसील नेवासा जिला अहमद नगर, 26 वर्षीय  शेख सलीम शेख बाबु निवासी खठमाली तहसील राहुरी जिला अहमद नगर के रुप में की गई. इन 3 के अलावा 2 फरार हुए डकैतों की पहचान समीर शब्बीर शेख निवासी खटकाली तहसील राहुरी जिला अहमदनगर, साहिल शमशोददीन सैयद निवासी पोखरी जिला अहमद के रुप में की गई.

पुलिस ने दर्ज किया मामला

इन कथित डकैतों के खिलाफ जिन्सी थाना में भारतीय दंड संहिता की धारा 399, 402 के तहत अपराध दर्ज किया गया. यह कार्रवाई शहर के सीपी डॉ. निखिल गुप्ता, डीसीपी दीपक गिरे, एसीपी निशिकांत भुजबल के मार्गदर्शन में पीआई वीएम केन्द्रे, पीएसआई दिनेश सूर्यवंशी, दत्ता शेलके, एएसआई नजीर पठान, हेमंत सुपेकर, संतोष वाघ, काकडे, उस्मान शेख, वाघचौरे, संजय गावंडे, सुनील जाधव, संतोष बमनात ने पूरी की.