औरंगाबाद मनपा ने किया क्षेत्रीय सनियत्रंण समिति का गठन

  •  पात्र फुटपाथ विक्रेताओं को मिलेंगा 10 हजार रुपए तक का कर्ज 

औरंगाबाद. केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री फुटपाथ विक्रेता आत्मनिर्भर निधि इस योजना के क्षेत्रीय सनियंत्रण समिति का गठन सरकार निर्णयानुसार मनपा द्वारा किया गया. क्षेत्रीय समिति के अध्यक्ष मनपा प्रशासक आस्तिककुमार पांडेय रहेंगे. इस योजना के माध्यम से पात्र फुटपाथ विक्रेताओं को 10 हजार रुपए तक का कर्ज मिलेंगा.

समिति के सदस्य सचिव और शहर प्रकल्प अधिकारी के रुप में अतिरिक्त आयुक्त रविन्द्र निकम, सदस्य जिला अग्रणी बैंक के व्यवस्थापक श्रीकांत कारेगांवकर, संजय केणेकर, डॉ. लक्ष्मण माने, अंजु खोडके, रेखा लांबे-दिव्य दृष्टि बस्ती संघ, प्रदीप त्रिभूवन मैनेजर उज्जीवन बैंक का चयन किया गया. इसको लेकर संपन्न हुई बैठक में फुटपाथ विक्रेता नीतियों के संबंध के प्रारुप पर चर्चा की गई. साथ ही शहर के अधिक से अधिक फुटपाथ विक्रेताओं को इस योजना का लाभ प्राप्त कराकर देने के लिए सूचनाएं भी की गई. इस योजना का उध्दिष्ट 10 हजार रुपए तक का  कर्ज बैंक द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा. 

ऑनलाइन आवेदन करना जरुरी

इस योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थियों  को ऑनलाइन आवेदन करना जरुरी है. ऑनलाइन आवेदन करने के लिए लाभार्थियों को  सरकार की वेबसाईट पर जाकर आवेदन करना है. साथ ही बैंक खाते के विस्तृत जानकारी सहित 1 फोटो व आधार कार्ड अपलोड करना. इसके व्यतिरिक्त लाभार्थी महा-ई-सेवा केन्द्र पर जाकर भी आवेदन कर सकते है. यह अपील मनपा प्रशासन ने की है.

लाभ लेने की अपील

प्रधानमंत्री फुटपाथ विक्रेता आत्मनिर्भर योजना के लिए 24 मार्च 2020 अथवा उससे पूर्व शहर में फुटपाथ पर बिक्री करनेवाले सभी फुटपाथ विक्रेता पात्र रहेंगे. इसमें शहर के पथ विक्रेता, निकट के ग्रामीण परिसर के शहर में आकर व्यवसाय करनेवाले तथा कोरोना के चलते गांव गए फुटपाथ  विक्रेता शामिल रहेंगे. साथ ही फुटपाथ विक्रेता एक साल की कर्ज अदायगी  करने पर  निवेश कर्ज लेने और उसका हर माह हफ्ता लौटाने के लिए पात्र रहेंगे. उसके लिए प्रचलित ब्याज दर लागू रहेंगे. तय समय में कर्ज की अदायगी करने पर 7 प्रतिशत ब्याज अनुदान मिलने के लिए पात्र रहेंगे. इस योजना का अधिक से अधिक लाभ फुटपाथ विक्रेताओं ने लेने की अपील मनपा प्रशासक आस्तिककुमार पांडेय ने की है.