Aurangabad Rural Police succeeded in tracing 184 missing people

    औरंगाबाद. आए दिन शहर सहित जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों के लापता (Missing) होने का सिलसिला लगातार जारी है। गत 10 सालों में  जिले भर से 477 महिला/पुरुष के अलावा युवक व युवतियां लापता हुई है। औरंगाबाद ग्रामीण (Aurangabad Rural) की एसपी मोक्षदा पाटिल (SP Mokshada Patil) ने 4 माह पूर्व लापता लोगों को ढूंढने के लिए  एक विशेष मुहिम चलायी। इस मुहिम में आज तक 184 लोगों को ढूंढ निकालने में औरंगाबाद जिला ग्रामीण पुलिस कामयाब हुई है। यह सभी लोग अपने परिवार में लौटने से उनके परिवारों में खुशियां लौट आयी है।

    औरंगाबाद ग्रामीण की एसपी मोक्षदा पाटिल ने बताया कि सन 2011 से 2021 इस दस साल के दरमियान जिले भर से लापता हुए लोगों का कुछ माह पूर्व  उन्होंने जायजा लिया था। उस जायजे में यह जानकारी सामने आयी कि गत 10 सालों में  198 महिला, 203 पुरुष के अलावा 18 साल से कम उम्र की  40 लड़कियां व 9 लड़के लापता है। इस जानकारी को गंभीरता से लेकर एसपी मोक्षदा पाटिल ने अपने मातहत अधिकारियों को लापता लोगों को ढूंढने के लिए एक विशेष मुहिम चलाने के निर्देश दिए। उसके तहत 23 फरवरी 2021 से लापता लोगों को ढूंढ निकालने  जिले भर के सभी पुलिस थानों में एक विशेष मुहिम शुरु की गई।

    मुहिम को मिला बेहतर प्रतिसाद 

    जिला ग्रामीण पुलिस द्वारा शुरु की गई इस मुहिम के लिए हर पुलिस थाना अंतर्गत एक विशेष पुलिस कर्मचारी की नियुक्ति कर उसके जिम्मे लापता लोगों की जानकारी जुटाने का जिम्मा सौंपा गया। इस कार्य के लिए समय-समय पर एसपी मोक्षदा पाटिल ने संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों को सूचना की। उसका परिणाम यह हुआ कि 23 फरवरी से 29 मई इस चार माह के दरमियान जिले के ग्रामीण पुलिस  लापता कुल 198 महिला में से 88, लापता 203 पुरुष में से 74 के अलावा 18 लडकियां व 8 लड़कों को ढूंढ निकालने में कामयाब हुई। यह सभी लापता लोग अपने परिवार में लौटे है। जिससे उनके परिवारवालों में खुशी का ठिकाना नहीं  रहा है। इस कार्य में शामिल सभी पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों का औरंगाबाद ग्रामीण की एसपी मोक्षदा पाटिल ने अभिनंदन किया है। अंत में एसपी ने बताया कि यह मुहिम आगे भी जारी  रहेंगी।