BAJAJ COMPANY

वालूज. कोरोना संक्रमण ने  शहर के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्र में भी बड़े पैमाने पर पांव पसारने शुरु किए हैं. एमआईडीसी वालूज क्षेत्र में स्थित दो कंपनियों में कोरोना मरीज पाए गए हैं. जिसके चलते देश की अग्रणी  बजाज कंपनी ने अपने औरंगाबाद में स्थित बजाज आटो यूनिट शनिवार से आगामी दो दिन तक बंद रखने का निर्णय लिया है. 

बजाज कंपनी के उप महाव्यवस्थापक मुकुंद बडवे ने बताया कि वालूज में कोरोना कहर बरपा रहा है, बल्कि कुछ कंपनियों के  कामगार भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए बजाज कंपनी ने अपना औरंगाबाद यूनिट दो दिन बंद रखने का निर्णय लिया है. उन्होंने बताया कि कंपनी बंद के दरमियान बड़े पैमोन पर सैनिटायजिंग व डिइन्फेशन का काम किया जाएगा.

24 अप्रैल से शुरु किया गया था कामकाज

 बडवे ने बताया कि वालूज महानगर  से कंपनी में आनेवाले कामगारों को होम क्वारंटाईन करना अनिवार्य किया गया है. इसमें जिन कामगारों की उम्र 55 साल से अधिक है और वे शुगर व अन्य बीमारी से पीडित हैं, उन्हें छुट्टी दी गई है. लॉकडाउन के बाद कंपनी का कामकाज 24 मई से शुरु किया गया था. दो शिफ्ट में 3 हजार में से 800 कामगारों को कंपनी में बुलाकर उत्पादन शुरु किया गया था. उसके बाद बजाज पर निर्भर सभी वेंडरों ने अपना उत्पादन शुरु किया था.  बडवे ने बताया कि दो दिन कंपनी में शटडाउन करने के बाद कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने में हम कितने कामयाब होते हैं, उसके बाद शटडाउन बढ़ाने के बारे में अगला निर्णय लिया जाएगा. बता दें कि शहर से सटे वालूज क्षेत्र में कोरोना इन दिनों कहर बरपा रहा है. कंपनी में कार्यरत दो कामगारों ने अपनी जान भी गंवायी है. वहीं, 79 कामगार कोरोना से पीडि़त है, जिनका इलाज जारी है. इससे परेशान बजाज कंपनी ने औरंगाबाद यूनिट में दो दिन शटडाउन करने का निर्णय लिया है.