बाल ठाकरे स्मृतिवन, जंगल सफारी काम का भूमिपुजन अगले माह

औरंगाबाद. स्व. बाल ठाकरे स्मृतिवन, जंगल सफारी प्रकल्प के कामों की निविदा प्रक्रिया अंतिम चरण में है. इन कामों का भूमिपुजन अगले माह किया जाएगा. यह जानकारी मनपा कमिश्नर और प्रशासक आस्तिककुमार पांडेय ने जिले के पालकमंत्री सुभाष देसाई द्वारा शहर में जारी विकास कार्यों का जायजा लेने के लिए आयोजित बैठक में दी. 

बैठक में जिलाधिकारी सुनील चव्हाण, मनपा के अतिरिक्त आयुक्त बीबी नेमाने, अतिरिक्त आयुक्त रविन्द्र निकम, शहर अभियंता सखाराम पानझडे, सहायक संचालक नगर रचना जयंत खरवडकर, मुख्य लेखाधिकारी संजय पवार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नीता पाडलकर, उपायुक्त सुमंत मोरे, अपर्णा थेटे, कार्यकारी अभियंता हेमंत कोल्हे, बीडी फड, किरण धांडे प्रमुख रुप से  उपस्थित थे. बैठक में मनपा कमिश्नर पांडेय ने क्रांति चौक में निर्माणाधिन शिवाजी महाराज की प्रतिमा बढ़ायी जानेवाली ऊंचाई का मॉडल दिखाया. कमिश्नर पांडेय ने बताया कि इस काम को गति दी गई है. महाराज के प्रतिमा का क्ले मॉडल कला संचालनालय के पास मान्यता के लिए भेजा जाएगा.  

जंगल सफारी के निर्माण की दी विस्तृत जानकारी  

मनपा कमिश्नर पांडेय ने शहर के मिटमिटा परिसर में निर्माण किए जानेवाले जंगल सफारी का काम 3 चरण में हाथ में लिए जाने की जानकारी  देते हुए बताया कि पहले चरण में संरक्षण दीवार का निर्माण करना, जमीन को लेवल करना आदि काम अपेक्षित है. प्रथम चरण के काम का भूमिपुजन नंवबर माह में होगा. उसके लिए नियोजन जारी है. जंगल सफारी के लिए कुल 100 एकड़ भूमि जिला प्रशासन ने दी है. इसके अलावा 17 एकड़ भूमि लॉयनपार्क  के लिए मांगी गयी है. उसका प्रस्ताव राज्य के राजस्व मंत्री को भेजे जाने की जानकारी प्रशासक पांडेय ने दी.

152 करोड़ के रास्तों का नंवबर माह में भूमिपूजन 

ठाकरे सरकार द्वारा शहर के बदहाल सड़कों को बेहतर बनाने के लिए उपलब्ध कराए गए 152 करोड़ की निधि से मनपा द्वारा निर्माण किए जानेवाले रास्तों का भूमिपुजन नवंबर माह में किया जाएगा. इससे पूर्व तत्कालीन फडणवीस सरकार द्वारा रास्तों के लिए उपलब्ध कराए गए 100 करोड़ निधि के काम पूरे होने की जानकारी कमिश्नर पांडेय ने दी. 

10 नवंबर तक शुरु होगा कांचनवाडी कचरा प्रक्रिया प्रकल्प 

बैठक में कमिश्नर पांडेय ने शहर के कांचनवाडी में निर्माण किए जा रहे कांचनवाडी कचरा प्रक्रिया प्रकल्प का काम अंतिम चरण होने की जानकारी देते हुए बताया कि 10 नवंबर तक यह प्रकल्प शुरु होगा. वहीं, पडेगांव में निर्माणाधीन कचरा प्रक्रिया केन्द्र का काम भी अंतिम चरण में है. यह प्रकल्प भी जल्द पूरा होगा. हर्सूल कचरा प्रक्रिया केन्द्र का बेसमेंट और अन्य काम पूरे हुए है. इस प्रकल्प का काम पूरा होने में और 6 माह लगेंगे. कमिश्नर ने शहर के उस्मानपुरा में स्थित संत एकनाथ रंग मंदिर के मरम्मत कार्य की विस्तृत जानकारी दी. उन्होंने बताया कि दिसंबर एंड तक रंग मंदिर का उदघाटन किया जाएगा. 

एलईडी बल्ब से 50 प्रतिशत बिजली बिल की बचत  

कमिश्नर पांडेय ने बताया कि मनपा द्वारा शहर में 40 हजार एलईडटी स्ट्रीट लाइट लगाए गए है. पहले बिजली बिल की रकम के रुप में  हर माह डेढ़ करोड़ रुपए महावितरण को अदा करने पड़ते थे. एलईडी बल्ब लगाने के बाद बिजली बिल की रकम में करीब 50 प्रतिशत गिरावट आयी है. शहर के खंभों पर अभी और 17 हजार एलइडी बल्ब लगाना है. यह बल्ब लगाने के बाद बिजली बिल की  रकम और कमी आएगी. इसके अलावा हॉकर्स जोन, पार्किग जोन, प्रधानमंत्री आवास योजना, फेरीवालों का सर्वे, गुंठेवारी करने की समयावधि, विकास प्रारुप आदि के बारे में कमिश्नर पांडेय ने विस्तृत जानकारी पालकमंत्री के अध्यक्षता में संपन्न हुई बैठक में दी. बैठक के बाद मेल्ट्रान कोविड केयर सेंटर में बजाज प्रायोजित सीटी स्कैन मशीन का उद्घाटन पालकमंत्री सुभाष देसाई के हाथों किया गया.