औरंगाबाद में किसान बनकर कृषि मंत्री ने दुकान पर छापा मारा

औरंगाबाद. राज्य के कृषि मंत्री दादाजी भुसे ने औरंगाबाद में एक दुकान पर छापा मारा, यह देखने के लिए की किसानों को खाद और बीज मिल रहा है या नहीं. बैलेंस होने के बावजूद दुकानदार ने खाद देने से मना कर दिया, तो कृषि मंत्री ने जिला कृषि अधीक्षक के माध्यम से दुकान और गोदाम की जांच की. कृषि मंत्री ने  कृषि विभाग के गुणवत्ता नियंत्रण अधिकारियों को सख्ती की छुट्टी पर भेजने के भी  निर्देश दिये.

कृषि मंत्री भूसे  ने कहा कि अगर जिलों में खाद का प्रचुर मात्रा में भंडार होने के बावजूद दुकानदार किसानों को कृषि इनपुट उपलब्ध नहीं कराते हैं तो गुणवत्ता नियंत्रण अधिकारियों को जिलों में और अधिक प्रभावी कदम उठाने की जरूरत है.

कई किसानों को थी शिकायतें

औरंगाबाद में कई किसानों की शिकायतें थी कि यूरिया उपलब्ध नहीं था. यह देखते हुए कृषि मंत्री भूसे ने रविवार दोपहर औरंगाबाद का औचक दौरा किया. जिला प्रशासन को सूचित किए बिना, कृषि मंत्री खुद एक साधारण किसान के रूप में सीधे मार्केट कमेटी के परिसर में नवभारत फर्टिलाइजर की दुकान पर गए. उसने दुकानदार से 10 बोरा यूरिया मांगा. दुकानदार ने कहा कि उसके पास यूरिया का स्टॉक नहीं है.दुकानदार ने यूरिया नहीं दिया फिर भी भूसे  ने 10 के बदले 5 बैग मांगे.

स्टॉक रजिस्टर की मांग की

कृषि मंत्री ने दुकान में बैलेंस शीट पर यूरिया बैलेंस होने का संकेत देते हुए स्टॉक रजिस्टर की मांग की. दुकानदार ने कहा कि वह घर पर है. उसके बाद कृषि मंत्री ने जिला कृषि अधीक्षक को दुकान पर बुलाया. कृषि मंत्री भूसे  ने इस बात पर नाराजगी व्यक्त की कि किसानों को यूरिया वितरित नहीं किया जा रहा है, जबकि अधिशेष है. दुकान और गोदाम के जांच में पता चला कि दुकान में यूरिया के 1386 बैग बचे हैं. उन्होंने अधिकारियों को दुकानदार के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया.

कार्रवाई करने के निर्देश दिए

कृषि मंत्री ने औरंगाबाद में गुणवत्ता नियंत्रण अधिकारियों को अनिवार्य अवकाश पर भेजने का निर्देश दिया और दुकान से कृषि विभाग के सचिव को भी फोन किया और अधिक प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश दिए. कृषि मंत्री ने यह भी चेतावनी दी कि किसानों को एक विशिष्ट कंपनी से खाद और बीज खरीदने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए और यदि स्टॉक के बावजूद किसानों को यूरिया नहीं दिया गया यह बात बर्दाश्त नहीं की जाएगी.