प्याज के निर्यात पर लगी पाबंदी तत्काल हटाए केन्द्र सरकार

  • राज्य के फलोत्पादन मंत्री भुमरे की केन्द्र सरकार से मांग 

औरंगाबाद. राज्य के प्याज  उत्पादक किसानों को होनेवाले नुकसान को टालने के लिए राज्य के फलोत्पादन मंत्री संदिपान भुमरे ने  तत्काल प्याज निर्यात पर लगी पाबंदी हटाने की मांग केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर को एक पत्र लिखकर  की.

फलोत्पादन मंत्री भुमरे ने केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर को भेजे पत्र  में बताया कि प्याज के निर्यात पर पाबंदी लगाने से प्याज उत्पादक किसानों के समक्ष कई अड़चणे  निर्माण होकर उनका बड़े पैमाने पर नुकसान हो रहा है. प्याज निर्यात पर लगी पाबंदी तत्काल हटाने के लिए केन्द्रीय कृषि मंत्री ने पहल करने की विनंती पत्र में की गई.

भुमरे ने केन्द्रीय कृषि मंत्री को भेजे पत्र में बताया कि राज्य में कोरोना का संकट निर्माण होने के बाद धीरे धीरे अब व्यापार पेठ में रौनक लौट रही है. कोरोना संकट के दरमियान काफी मेहनत से उत्पादित किए प्याज को बेहतर दाम मिलने से किसानों के चेहरे पर खुशी छायी थी. यह खुशी अधिक समय तक टिक नहीं पायी.उसका मुख्य कारण केन्द्र सरकार द्वारा प्याज के निर्यात पर पाबंदी लगाना है. एक तरफ किसानों द्वारा  स्टॉक किया हुआ प्याज खराब  हो रहा है, जिसका  खामियाजा किसानों को सहना पड़ रहा है.

लॉकडाउन के दरमियान किसानों  ने बड़ी मेहनत से प्याज का उत्पादन किया था. उस उत्पादन से उन्हें बेहतर दाम भी मिलना तय था. परंतु, प्याज के निर्यात पर पांबदी से किसानों के सपनों पर पानी फिरा है.  प्याज उत्पादक किसानों को राहत देने के लिए प्याज के निर्यात पर लगी पाबंदी तत्काल हटाने की मांग राज्य के फलोत्पादन मंत्री संदिपान भुमरे ने केन्द्रीय  कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर  को भेजे पत्र में की.