pandey aur

    औरंगाबाद. कोरोना महामारी के दूसरे चरण पर प्रशासन ने बड़े पैमाने पर काबू पाया है, इसलिए सरकार के निर्देश पर सोमवार से शहर को अनलॉक (Unlock) किया गया है। शहर अनलॉक होने के बाद भी कोरोना महामारी (Corona Pandemic) से गाफील न रहते हुए हर नागरिक जिम्मेदारी से पालन कर सरकार द्वारा जारी निर्देश का पालन करें। यह अपील औरंगाबाद महानगरपालिका कमिश्नर तथा प्रशासक आस्तिक कुमार पांडेय (Astik Kumar Pandey) ने सोशल मीडिया (Social Media) के माध्यम से औरंगाबादवासियों से की।

    गौरतलब है कि शहर में गत ढ़ाई माह से कोरोना महामारी की दूसरी लहर को लेकर लॉकडाउन जारी था। प्रशासन द्वारा दूसरे चरण में लिए गए सख्त निर्णय तथा नागरिकों द्वारा  प्रशासन को किए गए सहकार्य से कोरोना महामारी के दूसरे चरण में जल्द काबू पाने में प्रशासन कामयाब हुआ। राज्य सरकार ने अनलॉक के लिए तय किए 5 स्तरों में प्रथम स्तर में शामिल शहरों में औरंगाबाद भी शामिल है। शहर में बीते एक पखवाड़े से संक्रमित मरीजों की संख्या में भारी गिरावट आई है। जिसके चलते राज्य सरकार ने औरंगाबाद को अनलॉक करने के निर्देश प्रशासन को दिए। सरकार के निर्देश पर सोमवार से औरंगाबाद शहर को अनलॉक किया  गया है।

    अनलॉक के प्रथम दिन उमडी भारी भीड़ पर चिंतित हुए पांडेय 

    अनलॉक के प्रथम दिन शहर में बड़े पैमाने पर सड़कों पर भीड़ देखी गयी। सुबह से लेकर दोपहर तक शहर के कई चौराहों में बड़े पैमाने पर यातायात जाम था। शहर के सड़कों पर बड़ी संख्या में लोग आने पर कमिश्नर पांडेय ने चिंता जताते हुए कहा कि शहर अनलॉक होने के बावजूद नागरिक अलर्ट रहें। हर व्यक्ति मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें। भीड़ में जाने से बचें। बार-बार साबुन से हाथ धोएं। उससे हमारे शहर में कोरोना मरीजों की संख्या सीमित रहकर पॉजिटिव रेट 5 प्रतिशत से कम रहेगा। उससे ऑक्सीजन बेड भी खाली रहेंगे। जब तक पॉजिटिव  रेट 5 प्रतिशत से कम है तथा ऑक्सीजन बेड 25 प्रतिशत खाली रहेंगे, तब तक हम लेवल वन में रहेंगे। इसलिए लेवल वन पर रहने की जिम्मेदारी औरंगाबाद शहर वासियों पर आई है। औरंगाबाद मनपा प्रशासन कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आशंका को लेकर 800 ऑक्सीजन बेड की संख्या बढ़ा रही है। साथ ही हम टेस्टिंग भी बड़ी संख्या में कर रहे हैं, ताकि हमें लेवल-वन में रहने आसानी होगा। संकट की इस घड़ी में शहर अनलॉक होने के बावजूद भी शहरवासी गाफील न रहते हुए जिम्मेदारी से अपना व्यवहार कर प्रशासन को सहकार्य करने की अपील पांडेय ने की।