Commissioner took stock of Padgaon waste processing center

औरंगाबाद. शहर की कचरा समस्या हल करने के लिए पडेगांव में निर्माण किए गए कचरा प्रक्रिया केन्द्र (Waste Processing Center) का औरंगाबाद महानगरपालिका प्रशासक आस्तिक कुमार (Astik Kumar Pandey) पांडेय ने दौरा कर वहां के कामकाज का जायजा लिया। इस दौरे में उन्होंने वे ब्रिज की खुद रीडिंग लेकर जांच की। इस स्थान पर सीसीटीवी (CCTV) कैमरे और संपूर्ण कचरा प्रक्रिया केन्द्र में हर मशीन पर होनेवाले कामकाज की जांच के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए। साथ ही इसकी देखरेख मोबाइल (Mobile)में हो, ऐसी सुविधा करें।

प्रकल्प चलानेवाले भाटी द्वारा किए जा रहे कार्यों का भी मनपा प्रशासक पांडेय ने जायजा लिया। उस समय केन्द्र में पड़े कचरे के ढिगारों पर प्रशासक पांडेय ने नाराजगी जताते हुए कई सूचनाएं की। जिसमें प्रमुख रुप से इस केन्द्र पर प्रतिदिन 150 से 200 मैट्रिक टन कचरे पर प्रक्रिया करें। 200 टन से अधिक कचरे पर प्रक्रिया करने पर इंसेटिव दिया जाएगा। इस प्रकल्प में जमा किए हुए कचरे के ढेर की उंचाई बढऩे से केन्द्र के लोहे के कॉलम को जंग लग रहा है। ऐसे में केन्द्र पर कम समय में कचरे पर प्रक्रिया कर कचरे के ढेर को बढऩे से बचाने का नियोजन करें। लिचेड टैंक का काम पूरा हुआ है, ऐसे में ऊपर के दीवार को तत्काल कलर करने की सूचना भी प्रशासक पांडेय ने केन्द्र चालक भाटी को की।

आदित्य ठाकरे सोमवार को करेंगे उद्घाटन

इस दौरे में प्रशासक पांडेय के साथ शहर अभियंता एसडी पानझडे, कार्यकारी अभियंता हेमंत कोल्हे, घन कचरा व्यवस्थापन प्रमुख नंदकिशोर भोंबे, उद्यान अधीक्षक विजय पाटिल उपस्थित थे. गौरतलब है कि आगामी शनिवार को पडेगांव के कचरा प्रकल्प केन्द्र का लोकार्पण पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे के हाथों होने जा रहा है।

कांचनवाड़ी के मिथेन गैस प्रकल्प का लिया जायजा

पडेगांव के कचरा प्रक्रिया केन्द्र का जायजा लेने के बाद मनपा प्रशासक पांडेय ने मनपा द्वारा कांचनवाडी परिसर में शुरु किए गए कांचनवाडी के वायू गैस प्रकल्प का दौरा किया। इस प्रकल्प में जारी लैंड स्कैपिंग का काम 14 जनवरी तक पूरा करने का आश्वासन दिया। पांडेय ने प्रकल्प में मिथेन गैस स्टॉक रखने का बलून का भी जायजा लिया। इस  स्थान पर 24 घंटे सुरक्षा रक्षक और बलून की सुरक्षा के लिए जरुरी कदम उठाने के निर्देश दिए।