aur congress

    औरंगाबाद. देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने 7 वर्ष पूर्व जनता को झूठे सपने दिखाकर सत्ता प्राप्त की, परंतु 7 साल में मोदी सरकार सभी स्तर पर नाकाम हुई है। कोरोना का मुकाबला करने में मोदी सरकार (Modi Government) पूरी तरह नाकाम होने से देश के लाखों लोग अपनी जान गंवा रहे है। प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी मनमानी कारोबार से 130 करोड़ जनता को कोरोना महामारी के खाई में ढकेला है। सत्ता चलाने में पीएम मोदी नाकाम होने से वे तत्काल इस्तीफा दें, यह मांग शहर-जिला कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों ने मोदी सरकार के 7 साल पूरे होने पर विरोध दर्शाते हुए किए प्रदर्शन (Protest) के दौरान की।

    पूर्व मंत्री अनिल पटेल, जिलाध्यक्ष डॉ. कल्याण काले, कांग्रेस शहराध्यक्ष हिशाम उस्मानी के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने प्रदर्शन किया।  प्रदर्शनकारियों ने देश में बढ़ती पेट्रोल और डीजल की कीमतें, देश की कमजोर हो रही अर्थव्यवस्था, जीएसटी के चलते व्यापारियों व उद्योगों में आयी कमी, पूरे देश में बढ़ती बेरोजगारी, अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश के हो रही बदनामी, मोदी ने दो उद्योगपति मित्रों के लिए देश बिक्री के लिए निकाला है, जिसमें बंदरगाह, बीएसएनएल, पेट्रोलियम कंपनियां, बैंक ऐसे  सरकारी आस्थापना बेचे जा रहे है, जो जनता की संपत्ति है। 

    टीकाकरण मुहिम भी नाकाम साबित हो रही

    बीते सवा साल से देश कोरोना महामारी संकट का मुकाबला कर रहा है। केन्द्र सरकार ने महामारी पर ब्रेक लगाने के लिए किसी तरह  की पहल नहीं की। यही कारण है कि पिछले सवा साल में लाखों लोग महामारी से लोग अपनी जान गंवा चुके है। टीकाकरण मुहिम भी नाकाम साबित हो रही है।  इसके खिलाफ कांग्रेसियों ने रविवार को शहागंज में स्थित गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में  किरण पाटिल डोणगांवकर, इकबाल सिंह, मोहसीन अहमद, निलेश अंबरवाडीकर, मोहित जाधव, सुरेखा पानकडे, उज्जवला दत्त, निमेश पटेल उपस्थित थे।