औरंगाबाद में कांग्रेस के अच्छे दिन लाएंगे

  • पार्टी के नवनिर्वाचित जिलाध्यक्ष डॉ. कल्याण काले ने लिया संकल्प   

औरंगाबाद. पिछले कुछ सालों से औरंगाबाद जिले में कांग्रेस पार्टी की स्थिति काफी कमजोर हो चुकी है. ऐसे में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रदेशाध्यक्ष बालासाहाब थोरात ने मुझे जिले की कमान सौंपी है. मंगलवार को मैंने जिले का पदभार संभाला है. पदभार संभालते ही मैंने कांग्रेस को अच्छे दिन लाने का संकल्प किया है. यह प्रतिक्रिया कांग्रेस के नवनियुक्त जिलाध्यक्ष डॉ.कल्याण काले ने यहां दी.

पदभार संभालने के बाद आयोजित पत्रकार परिषद में डॉ. काले ने कहा कि आज कांग्रेस के पास  जिला परिषद अध्यक्ष को छोड़कर कोई भी पद नहीं है. जिले में कमजोर हुई कांग्रेस पार्टी को उभारने के लिए आलाकमान ने मुझे जिलाध्यक्ष बनाया है. उन्होंने विश्वास जताया कि वे पार्टी को जिले में अच्छे दिन लाकर रहेंगे.

बेहतर काम कर रही महाविकास आघाडी सरकार

डॉ.कल्याण काले ने कहा कि इन दिनों महाराष्ट्र में 3 दलों की महाविकास आघाडी सरकार बेहतर काम कर रही है. सरकार के मुखिया उध्दव ठाकरे  आज कई सख्त महत्वपूर्ण निर्णय ले रहे हैं. सीएम ठाकरे, डिप्टी सीएम अजीत पवार, राजस्वमंत्री बालासाहाब थोरात बड़ी जिम्मेदारी से काम कर रहे हैं. जिससे जनता में सरकार की लोकप्रियता बढ़ रही है. सरकार की लोकप्रियता से विरोधी दल भाजपा बौखला गयी है. यही कारण है कि आज भाजपाई आंदोलन कर रहे हैं. विरोधियों द्वारा जारी आंदोलन से यह साफ है कि महाराष्ट्र की ठाकरे  सरकार बेहतर काम कर रही है. ऐसा मेरा मानना है. डॉ. काले ने कहा कि विरोधी अपना अस्तित्व बचाए रखने के लिए आंदोलन कर रहे हैं.

12 लाख टन कपास के फाहे खरीदे 

काले ने कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के हित में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए. बीते कुछ दिनों में औरंगाबाद जिले के किसानों से सरकार ने 12 लाख टन कपास के फाहे खरीदे हैं. पिछले 3 सालों से  कपास की खरीदी नहीं हुई थी, लेकिन इस वर्ष इसलिए खरीदना पड़ा क्योंकि केन्द्र सरकार ने कपास की निर्यात पर पाबंदी लगा दी है. जिससे कपास के दाम गिरे और किसानों को गारंटी दाम भी नहीं मिल पा रहा था, इसलिए सरकार ने जिले के किसानों से 12 लाख टन कपास के फाहे खरीदे. डॉ. काले ने बताया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और एनसीपी  सुप्रीमो शरद पवार ने राज्य की जनता को आश्वासन दिया था कि अगर उनकी सरकार आयी तो हम किसानों का सारा कर्ज माफ करेंगे. उन दोनों के आश्वासन के बाद राज्य में उध्दव ठाकरे के नेतृत्व में महाविकास आघाडी सरकार स्थापित हुई. सरकार स्थापना के चंद दिनों बाद ही सरकार ने महात्मा ज्योतिबा फुले नामक योजना से किसानों का कर्ज माफ किया. सरकार के इस निर्णय का औरंगाबाद जिले के 65 प्रतिशत किसानों को लाभ होने का दावा कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. कल्याण काले ने किया. 

दूध को लेकर किया गया आंदोलन एक नाटक 

1 अगस्त को भाजपा द्वारा राज्य सहित जिले में बड़े पैमाने पर गाय के दूध को प्रति लीटर 10 रुपए दूध पावडर को 50 रुपए अनुदान देने की मांग को लेकर किए आंदोलन की कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. काले ने खिल्ली उडाते हुए कहा कि यह आंदोलन एक नाटक था. आज औरंगाबाद जिला दूध उत्पादक संघ भाजपा विधायक हरिभाउ बागडे के हाथ में है. आज वे 25 से 27 रुपए लीटर किसानों से दूध खरीदकर 40 रुपए लीटर बेच रहे हैं. स्थानीय स्तर पर वे किसानों से अधिक दाम में दूध  खरीदकर उन्हें फायदा पहुंचा सकते हैं, लेकिन जिला उत्पादक संघ में अपनी हार देखकर हरिभाउ बागडे व अन्य भाजपाईयों ने आंदोलन किए जाने का दावा कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ. कल्याण काले ने किया. पत्रकार परिषद में वरिष्ठ नेता इब्राहिम पठाण, डॉ. पवन डोंगेर, भाउसाहाब जगताप आदि उपस्थित थे.