कोरोना नियंत्रण : मनपा को राज्य सरकार से 11 करोड़ की निधि

 – शहर अभियंता सखाराम पानझडे की जानकारी

औरंगाबाद. बीते दो माह से शहर में कोरोना संक्रमितों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है. 25 अप्रैल तक शहर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा सिर्फ 50 था, आज यह आंकड़ा 5 हजार पार कर चुका है. ऐसे में महाराष्ट्र सरकार ने औरंगाबाद को कोरोना मुक्त करने के लिए 11 करोड़ 17 लाख रुपए की निधि मंजूर की गई है. इसमें 6 करोड़ 17 लाख रुपए मनपा की तिजोरी में जमा हो चुके हैं.

मनपा के शहर अभियंता सखाराम पानझडे ने बताया कि सरकार की ओर से  कुल 11 करोड़ 17 लाख रुपए की निधि मंजूर हुई है, उसमें 6 करोड़ 17 लाख रुपए की निधि मनपा की तिजोरी में जमा हो चुका है. 6 करोड़ 17 लाख में 2 करोड़ रुपए राज्य आपदा  प्रबंधन  की ओर से तथा  जिला नियोजन  समिति से 4 करोड़ 17 लाख रुपए की निधि उपलब्ध हुई है.

 कोविड केयर सेंटर पर प्रतिदिन 6 लाख रुपए का खर्च

शहर अभियंता पानझडे ने बताया कि आए दिन कोविड केयर सेंटर पर बड़ी संख्या में मरीजों को भरती किया जा रहा है. इसके अलावा क्वारंटाईन सेंटर भी बढ़ाए गए हैं. वहां भर्ती मरीजों व संदिग्धों को खाना खिलाना, औषधि, कंटेनमेंट जोन की प्रवेश बंदी आदि पर आज तक 2 करोड़ से अधिक की राशि खर्च हो चुकी है. वर्तमान में शहर में तीन कोविड केयर सेंटर तथा 6 क्वांरटाईन सेंटर कार्यरत है.

क्वारंटाईन सेंटर निहाय केटरर्स की नियुक्ति

अब तक मनपा प्रशासन द्वारा केटरर्स से खाना बनाकर मरीजों व क्वारंटाईन सेंटर में भरती संदिग्धों खिलाया जा रहा था, लेकिन मरीजों द्वारा बार-बार हल्के दर्ज का खाना मिलने को लेकर की जा रही शिकायतों पर मनपा प्रशासन ने खुद का किचन शुरु कर उसके सहारे  कोविड केयर  सेंटर के मरीजों  तथा क्वारंटाईन किए लोगों के लिए खाना बनाकर सेंटरों में पहुंचाने की व्यवस्था की थी. लेकिन, उसमें कई दिक्कते आने से मनपा प्रशासन ने इस निर्णय को बदलते हुए फिर एक बार क्वारंटाईन सेंटर निहाय केटरर्स की नियुक्ति करने का निर्णय लिए जाने की जानकारी शहर अभियंता सखाराम पानझडे ने दी.