कोरोना : प्रति दिन 300 संदिग्धों का स्वैब टेस्ट

औरंगाबाद. शहर में हर दिन कोरोना का कहर बरप रहा है. प्रशासन द्वारा हर संभव प्रयासों के बावजूद कोरोना संक्रमितों की संख्या में आए दिन इजाफा हो रहा है. इससे परेशान मनपा प्रशासक आस्तिक कुमार पांडेय ने हर मरीज के पीछे 15 मरीजों के स्वैब लेने के आदेश दिए हुए है. उसके अनुसार महानगर पालिका ने स्वैब लेने के प्रमाण बढ़ाए है. हर दिन 300 मरीजों के स्वैब के नमूने लिए जा रहे हैं.

हर दिन मिल रहे 100 से अधिक मरीज

मनपा सूत्रों ने बताया कि हर दिन 100 से अधिक मरीज पाए जाने से  प्रशासन सक्ते में है. एक मरीज के संपर्क में आए 15 लोगों को क्वारंटाइन करने का सिलसिल जारी है. वर्तमान में शहर के 15 सेंटरों  में 800 से अधिक संदिग्धों को क्वारंटाइन किया गया है. शहर में कोरोना संक्रमितों की संख्या कम करने के लिए मनपा ने वर्तमान में केरल पैटर्न के अनुसार ट्रैस, टेस्ट, ट्रिट इस फार्मूले को तरजीह दी है. कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क के अधिक से अधिक लोगों को ढूंढकर उनकी जांच की जा रही है. मनपा सूत्रों ने बताया कि चार दिन पूर्व ही मनपा आयुक्त पांडेय ने संदिग्धों के अधिक से अधिक स्वैब टेस्ट कराने के आदेश दिए थे. उस आदेश पर हर संक्रमित मरीज के निकटवर्तियों के 15 लोगों के स्वैब लिए जा रहे है. गत सप्ताह तक प्रतिदिन सवा सौ से डेढ़ सौ संदिग्धों के स्वैब के टेस्ट लिए जा रहे थे. लेकिन, एक सप्ताह से संक्रमितों की संख्या में तेजी से इजाफा होने से प्रशासन प्रतिदिन 300 स्वैब टेस्ट करा रहा है.

18 हजार से अधिक संदिग्धों के हुए टेस्ट

शहरवासियों को कोरोना से मुक्ति दिलाने के लिए प्रशासन ने सबसे अधिक स्वैब टेस्ट लेकर इलाज कराने पर अधिक लक्ष्य केन्द्रीत किया है. बीते तीन माह में 18 हजार से अधिक लोगों को स्वैब टेस्ट लिए गए. इसमें घाटी अस्पताल में 1918, मिनी घाटी में 2 हजार 933, मनपा अस्पतालों में 11 हजार 872, निजी लैब में 1 हजार 281 शामिल है.