मई एंड तक नागरिकों को डिमांड नोट का वितरण

    औरंगाबाद. गत वर्ष  कोरोना (Corona) के कारण औरंगाबाद महानगरपालिका प्रशासन (Aurangabad Municipal Corporation Administration) करों (Taxs) की राशि वसूलने में नाकाम रहा। ऐसे में प्रशासन ने चालू आर्थिक वर्ष में संपत्ति कर  (Property Tax) और पेयजल आपूर्ति करों की राशि वसूलने का ग्राफ बढ़ाने का अभी से नियोजन करना शुरु किया है। जल्द ही प्रभाग निहाय डिमांड नोट (Demand Note) तैयार कर उनका मई एंड तक वितरण किया जाएगा। यह जानकारी मनपा की कर निर्धारक और संकलक अधिकारी और उपायुक्त अपर्णा थेटे ने दी।

    उन्होंने बताया कि नया आर्थिक वर्ष पिछले सप्ताह आरंभ होने से पूर्व ही मनपा प्रशासक आस्तिक कुमार पांडेय ने संपत्ति और पेयजल आपूर्ति कर की वसूली के लिए नियोजन करने का आदेश प्रशासन को दिया है। उसके अनुसार इस साल संपत्ति कर और पेयजल आपूर्ति कर के बिल तैयार किए गए है। मई एंड तक संपत्ति धारकों के घरों तक डिमांड नोट का वितरण किया जाएगा। प्रभाग कार्यालय के अंतर्गत हर कर्मचारी के पास डेढ़ हजार संपत्ति धारकों की जिम्मेदारी सौंपी गई है। जो कर्मजारी जिस संपत्ति धारक के घर डिमांड नोट देने जाएगा, उन्हें संपत्ति धारक का मोबाइल नंबर, ई-मेल की जानकारी लेकर वह कार्यालय में जमा करना होगा। जिससे संपत्ति धारकों के मोबाइल पर और ई-मेल द्वारा डिमांड नोट भेजे जाने की जानकारी उपायुक्त अपर्णा थेटे ने दी।

    अप्रैल माह में कर भरने पर 10 प्रतिशत छूट 

    उपायुक्त थेटे ने बताया कि संपत्ति धारकों ने अप्रैल माह में संपत्ति कर अदा किया तो उन्हें कुल कर की राशि में 10 प्रतिशत छुट दी जा रही है। मई माह में 8 प्रतिशत और जून माह में 6 प्रतिशत सहुलियत दी जाएगी।  इस दौरान चालू आर्थिक वर्ष में सहुलियत का लाभ लेने के लिए नागरिक कर भर रहे हैं। यहीं कारण है कि नए आर्थिक वर्ष के  प्रथम सप्ताह में ही प्रभाग कार्यालय 4 में 8 लाख 81 हजार, प्रभाग 9 में 6 लाख 40 हजार, प्रभाग 6 में 2 लाख 66 हजार, प्रभाग 7 में 7 लाख 49 हजार, प्रभाग 5 में 4 लाख रुपए करों की राशि के रुप में जमा होने की जानकारी उपायुक्त थेटे ने दी।