Dining tables of hotels, bars, dhabas, resorts will remain closed till 4th April in Aurangabad

    औरंगाबाद. जिले भर में कोरोना महामारी के बढ़ते कहर पर लगाम लगाने के लिए जिला प्रशासन (District Administration) ने 17 मार्च से आगामी 4 अप्रैल तक शहर के सभी होटल, बार, ढाबा, रिसोर्ट के डायनिंग टेबल बंद रखने का निर्णय लिया है। इस निर्णय के तहत जिले भर के होटल्स, बार, नाश्ता सेंटर, फुड पार्क, ढाबे, रिसोर्ट पूरी तरह से बंद रहेंगे, बल्कि होटल चालक सिर्फ पार्सल (Parcel)अथवा होम डिलेवरी (Home Delivery) देने की सुविधा नागरिकों को दे पाएंगे। यह जानकारी औरंगाबाद के जिलाधिकारी सुनील चव्हाण (Sunil Chavan) ने आयोजित प्रेस वार्ता में दी।

    रविवार को जिले भर में 1 हजार से अधिक कोरोना संक्रमित मरीज पाए जाने से जिला प्रशासन में बेचैनी है। कोरोना  के बढ़ते कहर पर रोक लगाने के लिए सोमवार की सुबह वरिष्ठ अधिकारियों के उपस्थिति में टास्क फोर्स की बैठक जिलाधिकारी सुनील चव्हाण के अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक के बाद पत्रकार परिषद में कलेक्टर ने बताया कि बीते एक माह से जिले में कोरोना के बढ़ते कहर पर रोक लगाने के लिए जिला प्रशासन ने होटल धारक, बीयर बार चालक, ढाबे तथा रिसोर्ट धारकों को 50 प्रतिशत डायनिंग टेबल चालू  रखने के आदेश दिए  थे। इस आदेश  पर होटल व ढाबा चालक अमल नहीं कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि यह बात प्रशासन द्वारा 11 मार्च से लागू किए गए आंशिक लॉकडाउन के दरमियान की गई जांच में सामने आई है। सबसे अधिक भीड शहर के होटल, ढाबे, बीयर बार तथा रिसोर्ट पर दिखाई दे रही है। यहां अधिक भीड़ जमा होने से शहर में संक्रमण फैलने का शक प्रशासन को सता रहा है। इसलिए प्रशासन ने आगामी बुधवार से शहर के सभी होटल्स,  बीयर बार, नाश्ता सेंटर, फुड पार्क, ढाबे, रिसोर्ट 4 अप्रैल तक पूरी तरह से बंद रखने का निर्णय लिया है। कलेक्टर ने बताया कि होटल, ढाबा चालक पार्सल अथवा होम डिलेवरी दे पाएंगे। कलेक्टर ने साफ किया कि जो होटल धारक प्रशासन के निर्देश का पालन नहीं करेंगा, उस पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। 

    नागरिक बरतें सावधानी 

    कलेक्टर सुनील चव्हाण ने कहा कि शहर में फिर एक बार कोरोना महामारी ने तेजी से पांव पसारने शुरु किए है। ऐसे में हर नागरिक ने घर से बाहर निकलने पर कोरोना को लेकर सरकार द्वारा जारी नियमों का सख्ती से पालन करें। वरना प्रशासन को मजबूरन फिर से लॉकडाउन लगाना पड़ेगा। लॉकडाउन से बचने के लिए शहर के हर नागरिक ने कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के गंभीरता को जानकर नियमों का पालन करने की अपील कलेक्टर सुनील चव्हाण ने की। 

    टास्क फोर्स की बैठक संपन्न 

    इससे पूर्व, कलेक्टर चव्हाण के अध्यक्षता में टास्क फोर्स की बैठक संपन्न हुई। बैठक में जिले में गत एक माह से कोरोना के बढ़ते कहर पर चिंता जताकर उसके रोकथाम के लिए सभी अधिक उपचार सुविधा सहित सरकारी यंत्रणा ने तैयार रहने के निर्देश कलेक्टर ने बैठक में दिए। उन्होंने इस महामारी को रोकने के लिए उपविभागीय अधिकारी, तहसीलदार, संबंधित स्वास्थ्य अधिकारी ने एक साथ मिलकर एक कृति प्रारुप तैयार करने के निर्देश दिए। बैठक में जिला परिषद सीईओ डॉ. मंगेश गोंदावले, अपर जिलाधिकारी डॉ. अनंत गव्हाणे, मनपा के अतिरिक्त आयुक्त बीबी नेमाने, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. विजय वाघ, खाद्य व आपूर्ति विभाग के सहसंचालक संजय काले, मनपा की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नीता पाडलकर उपस्थित थी।