पूर्व महापौर नंदकुमार घोडेले कोरोना संक्रमित

औरंगाबाद. बीते 6 माह से शहर में जारी कोरोना प्रकोप में जनता की सेवा में जूटे हुए पूर्व महापौर नंदकुमार घोडेले कोरोना संक्रमित हुए. उनकी तबियत स्थिर है. जनता की आशिर्वाद से मैं जल्द  ही कोरोना से मुक्त होकर लोगों की सेवा में जूटा रहूंगा. यह प्रतिक्रिया घोडेले ने एक बयान जारी कर दी.

गौरतलब है कि मार्च माह में शहर में कोरोना ने पांव पसारने के बाद घोडेले जनता की सेवा में दिन-रात जूटे हुए थे. वे तब शहर के महापौर पद पर विराजमान थे. इसी दरमियान उनका महापौर पद का कार्यकाल पूरा हुआ. उसके बाद भी वे जनता की सेवा में जूटे रहे. जनता की सेवा जुटे रहने के दरमियान ही वे कोरोना संक्रमित हुए. 

सिग्मा अस्पताल में भर्ती 

उन्हें इलाज के लिए शहर के सिग्मा अस्पताल में भर्ती कराया गया है. अस्पताल से ही एक बयान जारी कर पूर्व महापौर घोडेले ने उनके संपर्क में आए लोगों से अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देने की अपील भी की. उन्होंने बताया कि उनके स्वास्थ्य पर सिग्मा अस्पताल के संचालक डॉ. उन्मेष टाकलकर, डॉ. अजय रोटे, डॉ. ज्ञानेश्वर झाडे, डॉ. समीद पटेल, डॉ. निलेश चित्ते विशेष लक्ष्य केन्द्रीत किए हुए है. डॉक्टरों की टीम का भी घोडेले ने आभार माना है. 

स्वास्थ्य की पूछताछ करनेवालों का आभार 

नंदकुमार घोडेले ने जारी किए बयान में बताया कि मैं कोरोना संक्रमित होने के बाद इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होते ही पूर्व सांसद चन्द्रकांत खैरे, विधायक प्रदीप जैसवाल, विधायक संजय सिरसाठ, विधायक अंबादास दानवे, पूर्व विधायक किशु तनवानी, गजानन बारवाल, राजू वैद्य, नरेन्द्र त्रिवेदी, मनपा प्रशासक आस्तिककुमार पांडेय, शहर के सीपी डॉ. निखित गुप्ता, उद्योजक उल्हास गवली के अलावा मीडिया कर्मियों ने मुझे फोन, वॉटसअप के माध्यम से संपर्क कर मेरे स्वास्थ्य का हालचाल पूछा. इन सभी का पूर्व महापौर नंदकुमार घोडेले ने आभार मानते हुए कहा कि वे जल्द ही कोरोना संक्रमण से मुक्त होकर दूबारा जनता की सेवा में जूटेंगे.