फिरौती के लिए व्यापारी का अपहरण करने का प्रयास करनेवाले गिरोह का पर्दाफाश

औरंगाबाद. जिले के अजंता थाना क्षेत्र के शिवना गांव के व्यापारी अखिलेश गुप्ता के रिश्तेदार से 50 लाख रुपए की फिरौती के लिए उन्हें अपहरण करने का प्रयास करनेवाले गिरोह का 24 घंटे के भीतर पर्दाफाश करने में औरंगाबाद ग्रामीण अपराध शाखा और अजंता पुलिस कामयाब हुई है. पुलिस ने व्यापारी का अपहरण करनेवाले गिरोह के चारों सदस्यों को  गिरफ्तार कर उनसे 1 पिस्तौल, 1 जिंदा कारतूस, मोटरसाइकिल और 3 मोबाइल जब्त किए.

औरंगाबाद ग्रामीण की एसपी मोक्षदा पाटिल ने बताया कि रविवार की शाम शिवना ग्राम निवासी 45 वर्षीय अखिलेश सुधीर गुप्ता खेती का काम समाप्त कर कार क्र. एमएच 19-एई 6286 में सवार होकर अपने साथियों के साथ घर की ओर निकले  थे. तभी अज्ञात 3 अभियुक्तों ने उनकी कार को रोककर वहां हंगामा कर व्यापारी अखिलेश गुप्ता का अपहरण करने का प्रयास किया. बदमाशों ने वहां फायरिंग भी की. जिससे परिसर के खेत में काम करनेवाले लोग कार की ओर दौडे. लोगों को जमा होते देख आरोपी वहां से फरार हुए. इस घटना से घबराए अखिलेश गुप्ता ने अजंता थाना पहुंचकर पुलिस को घटना की सूचना दी. 

अपराध शाखा की टीम और अंजता पुलिस ने की संयुक्त कार्रवाई 

इधर, इस घटना की जानकारी एसपी मोक्षदा पाटिल  को मिलने पर उन्होंने इसे गंभीरता से लेकर अपराध शाखा टीम को भी इस घटना के  जांच के आदेश दिए. एसपी के आदेश पर अपराध शाखा के पीआई भागवंत फुंदे और उनके सहकर्मियों जांच शुरु करने पर पुलिस को जानकारी मिली कि शिवना निवासी 23 वर्षीय युवक कृष्णा माणिक काले ने अपने साथी के साथ 50 लाख रुपए की फिरौती वसूलने के लिए  व्यापारी अखिलेश गुप्ता का अपहरण करने का प्रयास किया. इसी जानकारी पर ग्रामीण अपराध शाखा टीम और अंजता पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए पहले गिरोह के प्रमुख कृष्णा काले को गिरफ्तार किया. उसके द्वारा दी गई जानकारी पर पुलिस ने जालना जिले के भोकरदन तहसील के आडगांव भोंबे निवासी 28 वर्षीय सागर संतोष सोनुने, वैभव गणेश कालविले निवासी नाटवी-तहसील सिल्लोड और सचिन चिंटू सोनवने निवासी कांचन नगर जलगांव को गिरफ्तार किया.

1 लाख से अधिक का माल जप्त 

पुलिस ने इन बदमाशों से 1 लाख से अधिक का माल जप्त किया. यह कार्रवाई एसपी मोक्षदा पाटिल, डीवाईएसपी विशाल नेहुल के मार्गदर्शन में  ग्रामीण अपराध शाखा के पीआई भागवंत फुंदे, एपीआई गिरीधर ठाकुर, पीएसआई संदीप शेलके, हेड कांस्टेबल बालू पाथ्रीकर, नामदेव सिरसाठ, विक्रम देशमुख, राजेन्द्र जोशी, पुलिस नाइक संजय भोसले, उमेश बकले, योगेश तरमाले, बाबा नवले, ज्ञानेश्वर मेटे, जीवन घोलप, संजय तांदले, अंजता थाने के अकरम पठान, आबासाहब आव्हाड, निलेश निरसकर, पुलिस नाइक रविकिरण भारती ने पूरी की.