मराठवाड़ा को गीला-सूखा घोषित करें सरकार

  • विधायक सतीश चव्हाण की सीएम ठाकरे से मांग

औरंगाबाद. पिछले 10-12 दिनों से मराठवाड़ा में बारिश का कहर जारी है.लगातार बारिश का कहर जारी रहने से फसलों का बड़े पैमाने पर नुकसान जारी है. ऐसे में सरकार ने तत्काल मराठवाड़ा को गीला-सूखा घोषित करने की मांग मराठवाड़ा स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के विधायक सतीश चव्हाण ने राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, डिप्टी सीएम अजीत पवार, मदद व पुनर्वसन मंत्री विजय वडेट्टीवार को  एक ज्ञापन भेजकर की.

ज्ञापन में विधायक चव्हाण ने बताया कि पिछले कुछ सालों से मराठवाड़ा के किसान कभी सूखा, अतिवृष्टि तो कभी आसमानी संकटों से जुझं रहे हैं. ऐसे में खेती कैसे करें? यह प्रश्न किसानों को सता रहा है. इस साल खरीफ मौसम के आरंभ से बेहतर बारिश होने से अपेक्षा से अधिक उत्पादन की आस किसानों को थी. बारिश होने से किसानों के चेहरे खिले हुए थे. फसलों का उत्पादन बेहतर हो रहा था, इसी दरमियान बारिश का कहर जारी होने से फसलों का बड़े पैमाने पर नुकसान हो रहा है. 

तत्काल आर्थिक मदद देने की मांग

मराठवाडा के कई स्थानों पर फसलें बारिश के कहर से तबाह हो चुकी है. मूंग, उडद इन फसलों का उत्पादन होकर किसान उन्हें निकलकर मार्केट में लाने वाले थे, परंतु उससे पूर्व ही फसलें खराब हुई. अति बारिश से अब कपास, सोयाबीन, मोसंबी के खेतों में पानी जमा है. वहीं, गन्ना, मक्का की फसलें तबाह होकर खराब हो चुकी है. विधायक चव्हाण ने बताया कि किसानों ने कर्ज निकालकर बेहतर फसलों के उत्पादन के लिए बुआई की थी, परंतु फसलों के हुए नुकसान से बुआई के लिए किया गया खर्च भी वसूल नहीं हो पाया. किसान पहले ही कर्ज के तले दबे हुए है. ऐसे में बारिश का कहर जारी रहने से किसान पूरी तरह आर्थिक अड़चनों में फंसा है. उसे इन अड़चनों से बाहर निकालने के लिए तत्काल आर्थिक मदद देने की मांग विधायक सतीश चव्हाण ने राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, डिप्टी सीएम अजीत पवार से की.