motorcycle helmets

    औरंगाबाद. एक तरफ शहरवासी कोविड महामारी से बचने के लिए पिछले एक साल से मास्क (Mask) पहनकर परेशान है। वहीं, दूसरी तरफ शहर पुलिस (Police) ने एक मामले में हाईकोर्ट द्वारा पिछले कुछ माह पूर्व हेलमेट (Helmet) सख्ती के दिए आदेश पर क्या अमलीजामा पहनाया जा रहा है? यह सवाल पुलिस प्रशासन से पूछने के बाद मंगलवार शाम पुलिस ने एक आदेश जारी कर पहले 5 मई से फिर देर रात उसमें बदलाव कर 16 मई से शहर में हेलमेट सख्ती करने का निर्णय लिया है। पुलिस के इस निर्णय से जनता में बेचैनी पाई जा रही है।

    पुलिस आयुक्तालय के यातायात विभाग के एसीपी सुरेश वानखेडे ने मंगलवार शाम एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर 5 मई बुधवार से शहर में हेलमेट सख्ती पर अमलीजामा पहनाने की जानकारी देकर साफ कहा था कि बाइक चालक और उसके पीछे बैठे व्यक्ति को हेलमेट पहनना अनिवार्य होगा। सोशल मीडिया पर चंद घंटों में यह जानकारी शहर वासियों तक पहुंचते ही जनता में पुलिस के इस आदेश पर कड़ी प्रतिक्रिया सामने आ रही थी। बल्कि, लोगों में पुलिस के इस निर्णय पर सोशल मीडिया में  गुस्सा भी देखा गया। 

    देर रात बदला पुलिस ने निर्णय 

    देर रात करीब पौने दस बजे यातायात विभाग के एसीपी सुरेश  वानखेडे ने शहर पुलिस द्वारा हेलमेट सख्ती को लेकर जारी किए आदेश पर स्पष्टीकरण देते हुए बताया कि पुलिस प्रशासन 5 मई के बजाए 15 मई को लॉकडाउन समाप्त होने के बाद 16 मई से हेलमेट सख्ती पर अमलीजामा पहनाएगी। पुलिस प्रशासन द्वारा दिए गए इस स्पष्टीकरण के बाद शहर वासियों ने राहत की सांस ली है। एसीपी वानखेडे ने बताया कि 16 मई से हेलमेट सख्ती की कार्रवाई शुरु की जाएगी।