In the rape case, the ruling party official should take strict action against the accused

  • भाजपा की राष्ट्रीय सचिव रहाटकर ने सौंपा सीपी को ज्ञापन

औरंगाबाद. शहर के सिडको थाना (CIDCO Police Station) क्षेत्र में गत वर्ष दिसंबर एंड में एक शिक्षित युवती ने राजनीतिक दल के नेता पर बलात्कार और जिंदा मारने की धमकी देने का गंभीर अपराध दर्ज किया है। एफआईआर के अनुसार, आरोपी शेख महबूब राष्ट्रवादी युवक कांग्रेस (NCP) का प्रदेशाध्यक्ष हैं, जो एक प्रभावी व्यक्ति है। इसलिए उस पर आज तक पुलिस ने  सख्त कार्रवाई नहीं की। आरोपी पर सख्त कार्रवाई करने की मांग भाजपा की राष्ट्रीय सचिव विजया रहाटकर (Vijaya Rahatkar) ने शहर के सीपी डॉ.निखिल गुप्ता (CP Dr. Nikhil Gupta) से मुलाकात कर एक ज्ञापन (Memorandum) देकर की।

ज्ञापन में रहाटकर ने बताया कि आरोपी शेख पर मामला दर्ज होकर करीब एक पखवाड़ा का समय गुजर गया है। आरोपी को गिरफ्तार करना तो दूर मामूली जांच भी पुलिस ने नहीं की। न्यायालयीन किसी प्रकार की कार्रवाई न होने के बावजूद आरोपी को वरिष्ठ पुलिस अधिकारी द्वारा अप्रत्यक्ष रुप से क्लीन चीट दी जा रही है। 

यह मामला काफी गंभीर 

यह मामला काफी गंभीर है। इसी तरह की क्लीन चीट सरकार के एक वरिष्ठ मंत्री द्वारा आरोपी महेबूब शेख को जाहिर रुप से दी गई। विशेषकर, सत्ताधारी दल एनसीपी ने प्रेस वार्ता लेकर आरोपी को क्लीन चीट दी है। पुलिस द्वारा इस मामले में बरती जा रही ढिलाई से यह साफ हो रहा हैं कि पुलिस पर गृह मंत्रालय का दबाव है। राजनीतिक दबाव के चलते पुलिस आरोपी पर कार्रवाई करने से बच रही है। रहाटकर ने कहा कि एक तरफ राज्य  सरकार ने महिला अत्याचारों को रोकने के लिए ‘शक्ति विधेयक’ विधिमंडल में पेश किया है। उसमें कठोर प्रावधान किए हुए है। वहीं, दूसरी और यह विधेयक पेश करनेवाले गृह विभाग से ही बलात्कार जैसे गंभीर मामले में आरोपी को बचाने का प्रयास जारी है। पुलिस ने इस मामले में राजनीतिक दबाव को अनेदखी कर आरोपी पर सख्त कार्रवाई करने की मांग विजया रहाटकर ने सीपी डॉ. गुप्ता से की. ज्ञापन देते समय पूर्व उपमहापौर लता दलाल और भाजपा महिला मोर्चा की पदाधिकारी उपस्थित थी।