Independent cell for small entrepreneur women - decision in the meeting of MASIA

    औरंगाबाद. शहर के महिला उद्योजकों (Women Entrepreneurs) को औद्योगिक क्षेत्र (Industrial Sector) में प्रोत्साहन मिले, उन्हें नए उद्योग की शुरुआत करने में आनेवाली अड़चणों को दूर करने, वर्तमान में महिलाओं द्वारा चलाए जा रहे उद्योगों को वे समर्थ रुप से संचलन कर सके। उन्हें उद्योग में नए-नए अवसर ढूढ़ने और प्रशासकीय स्तर पर उद्योग चलाते समय आनेवाले अड़चणों का निपटारा करने के लिए महिला उद्योजकों का स्वतंत्र सेल स्थापित करने का निर्णय  मराठवाडा एसोसिएशन ऑफ स्मॉल स्केल इंडस्ट्रीज एंड एग्रीकल्चर (Marathwada Association of Small Scale Industries and Agriculture)(मसिआ) (MASIA) की बैठक में लिया गया।

    औरंगाबाद के औद्योगिक क्षेत्र में वर्तमान में नए उद्योगों के लिए पोषक  वातावरण है। परंतु, उसमें महिला उद्योजकों की हिस्सेदारी उंगलियों पर गिनी जानेवाली है। महिला लघु उद्योजकों को महिला विंग के अंतर्गत उद्योजकों के लिए विविध प्रकार का प्रशिक्षण, महिला विषयी औद्योगिक नीति के बारे में विस्तृत जानकारी हासिल करने के लिए परिसंवाद, उद्योग में सफल हुए महिला उद्योजकों को मार्गदर्शन देने के लिए  चर्चा सत्रों का आयोजन, उनके उत्पादनों को व्यापार पेठ प्राप्त कराने के लिए प्रदर्शन, रोड शो लेने का निर्णय महिला विंग की माध्यम से लेने का निर्णय लिया गया।

    बैठक में महिलाओं ने अपने विचार और सूचनाएं रखी। इस अवसर पर मसिआ के अध्यक्ष नारायण पवार, उपाध्यक्ष अनिल पाटिल, सचिन गजानन देशमुख, चेतन राउत, राहुल मोगले, राजेश मानधनी, महिला उद्योजक आदिती लामतुरे, रितिका गोयल, राधिका मनधनी, राजवी तेलंगी, राधिका वेलंगी, कमल राव, सुलभा थोरात, सुनीता  राठी, वर्षा लोया, निधि काले, श्रीमती पारगांवकर उपस्थित थी।