मनपा आयुक्त पांडेय की पहल, साइकिल ट्रैक निश्चित करने जल्द शुरू होगा सर्वे

  • संबंधित अधिकारियों के साथ  मनपा आयुक्त व सीपी डॉ. गुप्ता ने की बैठक 

औरंगाबाद. शहर में निर्माण किए जाने वाले वाईट टॉपिंग सड़कों के बीच का हिस्सा साइकिल चालकों के लिए आरक्षित किया  जा सकता है?  इस पर विचार जारी है. साईकिल ट्रैक निश्चित करने के लिए पुलिस, विविध संस्थाओं की मदद से शहर में  सर्वे शुरू होगा. सर्वे के लिए संयुक्त दलों की नियुक्ति कर आगामी एक सप्ताह में सर्वे का काम पूरा होगा. उसके लिए संयुक्त दलों की नियुक्ति की जाएगी. यह बात मनपा आयुक्त आस्तिक कुमार पांडेय ने स्पष्ट की.

गुरुवार की अपरान्ह औरंगाबाद सिटी डेवलपमेंट कार्पोेरेशन लि. यानी एएससीडीसीएल ने शुरू किए साइकिल्स  फॉरे चेंज इस मुहिम के अंतर्गत शहर में साईकिल ट्रैक तैयार करने के हेतु जगह निश्चित करना, उसके लिए साइकिल प्रेमी की सूचना बैठक संपन्न हुई. बैठक मेंं सीपी डॉ. निखिल गुप्ता प्रमुख रूप से उपस्थित थे.

बैठक में उपस्थित साइकिल प्रेमियों ने कुछ महत्वपूर्ण सूचनाएं दीं. साइकिलिंग सिर्फ क्रीडा अथवा स्पर्धा नहीं है, बल्कि, हर दिन के जीवन में इसका इस्तेमाल बढ़ाने के अलावा इसको लेकर शहर वासियों को कैसे प्रेरित किया जा सकता? इस पर विस्तृत चर्चा हुई.  इस दिशा में जल्द काम शुरू होगा. सीपी डॉ. गुप्ता ने इस अवसर पर साइकिल ट्रैक के बारे में मनपा प्रशासन तथा नागरिक ने पहल करने को लेकर समाधान व्यक्त किया. साईकिल ट्रैक के लिए होने वाले हैंडलबार सर्वेक्षण में यातायात शाखा के अधिकारियों की मदद देने की घोषणा भी सीपी डॉ. गुप्ता ने की. 

केन्द्र सरकार के आदेश पर कार्यवाही 

जन सहभाग से साइकिल का इस्तेमाल प्रतिदिन जीवन में करना तथा साइकिल चलाने के लिए मर्यादित ट्रैक का सर्वेक्षण करने के बारे में केन्द्र सरकार ने कहा है. उसके अनुसार सर्वे  करने के लिए औरंगाबाद जिला साइकिल एसोसिएशन, गेट गोईंग व अन्य स्वयंसेवी संस्थाओं के पदाधिकारी, सदस्य तथा स्मार्ट सिटी के अधिकारियों का संयुक्त दल निर्माण कर आगामी एक सप्ताह में सर्वे कर रिपोर्ट पेश करने के आदेश मनपा आयुक्त पांडेय ने दिए.बैठक में औरंगाबाद साईकलिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष निखिल काचेसवार, सचिव चरणजीत सिंह, औरंगाबाद कनेक्ट टीम के सारंग टाकलकर, राजकुमार मालानी, रुपेश शिंदे, डॉ. प्रणव महाजन, डॉ. उमा महाजन, नितिन घोरपडे, आशिष गाडेकर, पल्लवी देवरे, श्रीनिवास देशमुख, विजय विभुते उपस्थित थे.