लॉकडाउन: पुलिस की मदद के लिए मनपा की 200 टीमें गठित

  • 440 अधिकारी व कर्मचारियों को किया तैनात

औरंगाबाद. कोरोना के बरपाते कहर पर ब्रेक लगाने के लिए प्रशासन द्वारा शुक्रवार से जारी किए गए 9 दिन के लॉकडाउन में पुलिस विभाग को मदद करने के लिए मनपा ने 200 टीमों का गठन किया है. इन 200 टीमों में 440 अधिकारी व कर्मचारी तैनात किए गए हैं. इसमें 400 लॉकडाउन सहायक, 20 लॉकडाउन पर्यवेक्षक, 10 क्षेत्र अधिकारी तथा 10 लॉकडाउन निरीक्षक की नियुक्ति की गई है. यह सभी टीमें 9 दिन के लॉकडाउन काल में होनेवाले हर छोटी-बड़ी घटनाओं पर लक्ष्य केन्द्रीत करेंगे. यह जानकारी मनपा आयुक्त आस्तिककुमार पांडेय ने यहां दी.

उन्होंने बताया कि शहर में कोरोना के बढ़ते कहर के रोकथाम के लिए प्रशासन हर कड़े कदम उठा रहे है. इसी दौरान प्रशासन ने 10 से 18 जुलाई के दरमियान 100 प्रतिशत लॉकडाउन का आदेश जारी किया है. 

बिना वजह घर के बाहर निकलनवालों पर हो रही कार्रवाई

इसमें पुलिस प्रशासन को मदद के लिए 200 टीमें गठित की गई है. हर एक टीम में दो कर्मचारी तैनात किए गए, जिसमें एक कर्मचारी रिकॉर्डिंग का काम कर रहा है. मोबाइल फोन के माध्यम से सड़कों पर निर्माण स्थिति को रिकॉर्डिंग कर वे वरिष्ठ अधिकारी तक पहुंचा रहा है. दूसरा कर्मचारी लॉकडाउन पर सख्ती से अमलीजामा पहनाया जा रहा है, या नहीं इसका जायजा लेने का काम कर रहा है. वार्ड अधिकारी दर्ज के अधिकारी को भी जिम्मेदारी दी गई है. इसके अलावा 10 डिप्टी कलेक्टर लॉकडाउन निरीक्षक के रुप में काम कर रहे है.मनपा आयुक्त पांडेय ने बताया कि लॉकडाउन काल में बिना वजह घर के बाहर निकलनवालों पर सख्त कार्रवाई करने का सिलसिला जारी है. बल्कि, कार्रवाई अधिक  सख्त करने के लिए बिना वजह बाहर घूमनेवालों पर एफआईआर भी दर्ज किए जाएंगे. 

 जप्त किए जा रहे वाहन 

आयुक्त पांडेय ने बताया कि रास्ते पर निकले हर वाहन चालक की जांच की जा रही है. बिना कारण न होने पर बाहर निकले लोगों के वाहन जप्त किए जा रहे है. आयुक्त पांडेय ने शहरवासियों से  आवाहान किया कि वे बिना वजह घर से बाहर ना निकले. वरना,उन्हें कानूनी कार्रवाई का सामना करना पडेंगा.