ग्राहकों की बिजली खंडित न करते हुए महावितरण ने वसूले बकाया 68 करोड़

औरंगाबाद. मराठवाड़ा के औरंगाबाद,लातूर और नांदेड परिमंडल में कोरोना प्रकोप को ध्यान में रखकर पुराने बकायादार ग्राहकों की बकाया बिजली बिल की रकम वसूलने के लिए बिजली आपूर्ति खंडित न करते हुए औरंगाबाद प्रादेशिक विभाग के सह व्यवस्थापकीय संचालक डॉ. नरेश गिते के संकल्पना वे विनंती, सूचना और प्रत्यक्ष मिलकर महावितरण ने करीब 68 करोड़ की बकाया राशि वसूलने में कामयाबी हासिल की है. बिजली ग्राहकों ने बकाया राशि भरने में दिखायी तत्परता पर डॉ. गिते ने बिजली ग्राहक और कर्मचारियों का अभिनंदन किया है.

महावितरण के उपमुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुनील जाधव ने बताया कि वर्तमान में कोरोना प्रकोप के चलते बिजली बिल के बकाया के लिए महावितरण की ओर से किसी भी ग्राहक की बिजली आपूर्ति खंडित नहीं की जा रही है. बिजली ग्राहकों को बिजली बिल की बकाया भरने के लिए सह व्यवस्थापकीय संचालक डॉ. नरेश गिते की  संकल्पना पर बिजली की बकाया राशि भरने के लिए विनंती, सूचना, पत्र व्यवहार, वॉटसअप द्वारा संदेश भेजने का सिलसिला जारी है. महावितरण के विनंती पर औरंगाबाद परिमंडल के बिजली ग्राहकों ने 9 करोड़ 56 लाख रुपए, लातूर परिमंडल के ग्राहकों ने  25 करोड़ 77 लाख रुपए, नांदेड परिमंडल के 32 करोड़ 26 लाख रुपए ऐसे कुल करीब 68 करोड़ रुपए की बकाया बिजली बिल की राशि अदा की. 

औरंगाबाद विभाग में 341 बिजली बिल की  शिकायतों का निपटारा 

उधर, महावितरण के औरंगाबाद परिमंडल में वॉटसअप द्वारा प्राप्त हुई 392 में से 309 बिजली बिल की शिकायतों का निपटारा किया गया. लातूर परिमंडल में 7 में से 5, नांदेड परिमंडल में 33 में से 27 शिकायतों का निपटारा किया गया. इस तरह कुल 432 वॉटसएप शिकायतों में से 341 बिजली बिल की शिकायतों का निपटारा किया गया. साथ ही औरंगाबाद परिमंडल में कन्झुमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट यानी सीआरएम ऑनलाइन बिजली ग्राहकों की ओर से आई हुई कुल 22 हजार 318 शिकायतों में 21 हजार 398 शिकायतों का निपटारा किया गया. लातूर परिमंडल में 5 हजार 222 शिकायतों में से 5 हजार 59 तथा नांदेड परिमंडल में 10 हजार 699 में से 10 हजार 379 शिकायतों का निपटारा किया गया. इस तरह कुल 38 हजार 539 शिकायतों में से 36 हजार 846 शिकायतों का निपटारा किए जाने की जानकारी महावितरण के उपमुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुनील जाधव ने दी.