मास्क पहनने और सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन कराने मनपा ने कसी कमर

  • मनपा की स्वास्थ्य अधिकारी सड़क पर उतरीं
  • नागरिकों को दी नसीहत

औरंगाबाद. महानगर पालिका क्षेत्र में कोरोना बाधित मरीजों की संख्या में अचानक इजाफा हो रहा है. इस पर तत्काल नियंत्रण पाने और महामारी के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए तत्काल उपाय करते हुए मनपा प्रशासन ने सख्त कदम उठाने शुरु कर दिए हैं. 

इसके तहत मनपा की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नीता पाडलकर ने खुद सड़क पर उतरकर नागरिकों को मास्क लगाने को लेकर नसीहत दी. कुछ नागरिकों पर जुर्माना भी ठोंका.

बिना मास्क का घूम रहे लोग

शहर में कोरोना संक्रमण ने दोबारा से पांव पसारने शुरू कर दिए हैं. उसके बाद मनपा प्रशासक आस्तिक कुमार पांडेय ने 26 नवंबर से सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन न करने और मास्क न पहननेवालों पर सख्त कार्रवाई के आदेश दिए थे.  इसके लिए पूर्व स्वतंत्रता सेनानियों के 10 दलों की नियुक्ति की गई है. यह दल शहर के व्यापार पेठ, व्यापारी प्रतिष्ठान इन स्थानों पर मास्क लगाना, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना, सामाजिक अंतर रखना, दवाओं का छिड़काव करना आदि को अमलीजामा पहनाने का काम कर रहे हैं. मनपा की ओर से बार-बार नागरिकों से अपील करने के बाद  भी अधिकतर नागरिक बिना मास्क पहने शहर में घूम रहे है. 

नहीं हो रहा नियमों का पालन

व्यापार पेठ और सामाजिक स्थानों पर भीड कर सोशल डिस्टेंन्सिंग की धज्जियां उड़ा रहे है. नागरिकों के कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रशासन द्वारा जारी  दिशा-निर्देशों  का पालन करने की नसीहत देने के बाद मनपा की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नीता पाडलकर सड़क पर उतरीं. उन्होंने कई नागरिकों को मास्क लगाने के बारे में समझाया. बिना मास्क घूमनेवाले कई नागरिकों पर जुर्माना भी ठोंका. नागरिकों  ने सरकार के नियमों का सख्ती से पालन करते हुए कोरोना संक्रमण पर प्रतिबंध लगाने के लिए मनपा को सहयोग करने की अपील प्रशासन की ओर से मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नीता पाडलकर ने की है.