मनपा ने बकाया राशि वसूलने उठाए सख्त कदम, कई संपत्तियां सील

औरंगाबाद. कोरोना वायरस को लेकर सरकार द्वारा देश भर में लागू किए लॉकडाउन के बाद शहर के नागरिकों ने बड़े पैमाने पर करों की बकाया राशि अदा नहीं की, जिससे मनपा की तिजोरी खाली पड़ी है. मनपा की तिजोरी भरने के लिए मनपा प्रशासक आस्तिककुमार पांडेय ने शहर के बकायादारों से सख्ती से करों की राशि वसूलने के निर्देश अपने मातहत काम करने वाले अधिकारियों को दिए हैं. इस निर्देश पर मनपा प्रशासन ने बकायादारों की संपत्तियां सील करने की कार्रवाई तेजी से शुरू की है.

मनपा के कर निर्धारक व संकलक अधिकारी नंदकिशोर भोंबे के मार्गदर्शन में बकायदारों की संपत्तियां सील करने की कार्रवाई शुरू की गई. इसके तहत गुरुवार को शहर के वार्ड क्र. 112 शिवाजी  नगर में बालासाहाब पवार की ओर बकाया 43 लाख 51 हजार 202 रुपए के लिए दल प्रमुख रमेश मोरे के नेतृत्व में उनकी संपत्ति सील की गई. यह कार्रवाई मनपा कर्मचारी जितेन्द्र बोर्ड, अक्षय मगरे, महेश दौड ने पूरी की.

बता दें कि बुधवार को मनपा प्रशासन ने शहर की मशहूर रिवेरा बार को चार लाख रुपए की करों की बकाया राशि के चलते सील किया था. मनपा सूत्रों ने बताया कि दोनों बकायादारों को पहले कई बार बकाया  राशि भरने के लिए कई बार नोटिस देकर सूचित किया था. इसके बावजूद बकायादारों ने करों की राशि अदा न करने पर प्रशासन ने उनकी संपत्तियों को सील किया. इस कार्रवाई से शहर के बड़े बकायादारों में खलबली मची है.