एमआईडीसी नियुक्त करेगी 5 हजार कोरोना प्रशिक्षक

–  सीआईआई के मराठवाड़ा अध्यक्ष मुकुंद कुलकर्णी ने दी जानकारी

वालूज. औरंगाबाद शहर सहित वालूज एमआईडीसी क्षेत्र में कोरोना कहर बरपा रहा है. जिससे उद्योग, व्यापार व कुल अर्थ चक्र पर हो रहे  विपरित परिणाम कम करने के लिए उद्योजकों के संगठनों ने पहल शुरु की है. उसके लिए शहर के चारों एमआईडीसी ने मिलकर 5 हजार कोरोना प्रशिक्षक नियुक्त करने का नियोजन किया है. कोरोना प्रशिक्षक कंपनी के साथ ही कर्मचारी, कामगार के निवास वाले कालोनियों में पहुंचकर कोरोना के खिलाफ किस तरह लड़ाई लड़नी हैं, इसको लेकर प्रशिक्षण देंगे. यह जानकारी सीआईआई के मराठवाड़ा अध्यक्ष मुकुंद कुलकर्णी ने दी.

उन्होंने बताया कि कंपनी निहाय प्रशिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी. इन प्रशिक्षकों को विशेषज्ञों की ओर से सोशल डिस्टेन्सिंग कैसे रखना, प्राथमिक स्वास्थ्य की जांच कैसे करना, लोगों को कोरोना के बारे में किस तरह जागृत करना का प्रशिक्षण दिया जाएगा. साथ ही बड़े कंपनियों में 40 कर्मचारियों के लिए एक प्रशिक्षक का चयन किया जाएगा.

प्रशासन को बड़े पैमाने पर राहत मिलेगी

कर्मचारी कंपनी में आने से लेकर घर जाने तक उन पर लक्ष्य रखना व मार्गदर्शन करना यह प्रशिक्षकों की जिम्मेदारी रहेंगी. साथ ही कंपनी के कामगारों ने अपने परिवार को किस तरह प्रशिक्षण देना, पडोसियों को कैसे जागरुक रखना, इसका प्रशिक्षण भी नियुक्त प्रशिक्षक देंगे. कुलकर्णी ने दावा किया कि इन प्रशिक्षकों के नियुक्ति से कोरोना के खिलाफ लड़ाई लडऩे के लिए शहर में एक प्रशिक्षितों की चैन तैयार होगी. यह इसका मुख्य उद्देश्य है. इससे प्रशासन को बड़े पैमाने पर राहत मिलेगी. अंत में सीआईआई के मराठवाड़ा अध्यक्ष कुलकर्णी ने कहा कि कोरोना को ब्रेक लगाने की जिम्मेदारी जिस तरह सरकारी की हैं, उसी तरह आम नागरिकों को भी है. इसलिए हमने पहल कर यह उपक्रम हाथ में लिया है. इसमें शहर वासियों सहित कामगारों ने सहकार्य किया तो कोरोना पर हम जल्द मात दे पाएंगे.