सांसद जलील ने सौंपे घाटी अस्पताल को 5 वेंटिलेटर

औरंगाबाद. स्थानीय सांसद इम्तियाज जलील ने सरकारी घाटी अस्पताल के बाल रुग्णालय को 60 लाख रुपए के छोटे बच्चों को इलाज के लिए 5 वेटिंलेटर सौंपे. सांसद जलील ने घाटी की डीन डॉ. कानन येलीकर और संबंधित विभाग के डॉक्टरों को यह वेटिंलिटर सुपुर्द किए. इन वेटिंलेटरों का लाभ बाल रुग़्णालय में इलाज कर रहे बच्चों को होगा.

प्रशासन की ओर से सभी जन प्रतिनिधियों को विनंती की गई थी कि वे उनका स्थानीय विकास निधि सरकार के कोविड-19 महामारी के उपाय योजनाओं के लिए दे, परंतु सांसद जलील ने सांसद निधि अपने ही जिले में खर्च करने की भूमिका ली. उन्होंने अपना निधि राज्य सरकार के तिजोरी में देने से इंकार किया.

बीते आर्थिक वर्ष में की 1 करोड़ की वैद्यकीय सहायता 

अब तक घाटी के बाल रुग्णालय में सिर्फ 3 ही वेंटिलेटर थे.जिसके चलते कई नाजुक हालत में पहुंचे बाल मरीज वेंटिंग पर रहने के कारण उनके इलाज में देरी हो रही थी. इससे आहत होकर सांसद जलील ने 5 वेटिंलेटर उपलब्ध कराए. उन्होंने बताया कि अपने सांसद निधि से उन्होंने कोविड-19 के संकट के बीच औरंगाबाद जिले के स्वास्थय सेवा के लिए 2019-20 इस आर्थिक वर्ष में 1 करोड़ की मदद की हैं. उसमें आज सरकारी घाटी अस्पताल के बाल रोग विभाग को सौंपे गए  5 वेटिंलेटर की मदद भी शामिल है. इस अवसर पर उपअधिष्ठाता और विभाग प्रमुख न्याय  वैद्यकशास्त्र डॉ. कैलास झिने, बालरोग विभाग प्रमुख डॉ. प्रभा खरे, शरीर रचना शास्त्र विभाग प्रमुख डॉ. प्रतिमा कुलकर्णी, वैद्यकीय अधीक्षक डॉ. सुरेख हरबडे, उपअधिष्ठाता स्नातकोत्तर डॉ. भारत सोनुने, सहयोगी प्राध्यापक बाल रोग डॉ. अमोल सोमवंशी, डॉ. सुधीर चौधरी उपस्थित थे.