Municipal action on encroachment in Bibi Ka Maqbara premises

    औरंगाबाद. मिनी ताजमहल के रुप में पूरे विश्व में प्रसिद्ध ऐतिहासिक धरोहर (Archaeological Department of India) बीबी का मकबरा (Bibi Ka Maqbara) के सामने भारतीय पुरातत्व विभाग के करीब ढ़ाई एकड़ जमीन पर हुए अतिक्रमण को महानगरपालिका (Municipal Corporation) के अतिक्रमण हटाव दस्ते ने कार्रवाई  की । इस दौरान एक महिला द्वारा काफी देर हंगामा करने के चलते वहां तनाव हो गया था। महिला पुलिस ने उक्त महिला पर दबाव डालकर कार्रवाई पूरी की। महानगरपालिका ने मकबरा परिसर की खुली जमीन पर अतिक्रमण कर निर्माण किए गए दो स्कूल, टपरियां के अलावा सीमेंट के खंभे लगाकर किए हुए  अतिक्रमण पर कार्रवाई की। 

    गौरतलब है कि स्मार्ट सिटी अभियान के  माध्यम से पूरे विश्व में मिनी ताजमहल के रुप में मशहुर बीबी का मकबरा परिसर को विकसित करने का निर्णय बीते दिनों लिया गया था। यह परिसर विकसित करने के लिए पहले उस परिसर में फैले अतिक्रमण को हटाना जरुरी था। भारतीय पुरातत्व विभाग के अधीक्षक डॉ. मिलिंद कुमार चवले ने अतिक्रमण  हटाने के लिए महानगरपालिका को पत्र दिया था। उस पत्र पर महानगरपालिका कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय के मार्गदर्शन में अतिरिक्त आयुक्त रविन्द्र निकम अपने लाव लष्कर के साथ मकबरा परिसर पहुंचे। वहां उन्होंने पुलिस की मदद से अतिक्रमण को हटाया। कार्रवाई के दरमियान एक महिला ने  जेसीबी के सामने आकर कार्रवाई को रोकने का प्रयास किया।

    पुलिस ने दबाव तंत्र का इस्तेमाल करते हुए  उक्त महिला को अपने कब्जे में लिया। उसके बाद ढाई घंटे कार्रवाई करते हुए ऐतिहासिक धरोहर मकबरा परिसर में हुए अतिक्रमण को नेस्तनाबूत कर ओपन स्पेस को भारतीय पुरातत्व विभाग के हवाले की। यह कार्रवाई पदनिर्देशित अधिकारी सविता सोनवने, आरएस राचतवार,  वसंत भोये, इमारत निरीक्षक सैयद जमशीद, मजहर अली, पीबी गवली, आरएस सुरासे, रवीन्द्र देसाई, पीआई फहीम हाशमी, पीएसआई घाटे, पुरातत्व विभाग के प्रशासकीय अधिकारी रामटेके के दल ने पूरी की।