भू-माफियाओं पर मेरी कड़ी नजर

औरंगाबाद. मैंने जबसे शहर के पुलिस कमिश्नर का पदभार संभाला हैं, तबसे मेरे पास हर दिन 25 से 30 जमीन से संबंधित शिकायतों को लेकर लोग पहुंच रहे हैं. ऐसे में मेरी शहर के भू-माफियाओं पर कड़ी नजर है, बल्कि पुलिस थाना वाईज उनकी सूची तैयार की गई है. मौका मिलते ही भू-माफियाओं पर तडीपार अथवा प्रिवेंशन ऑफ डेंजरस ऐक्टिविटीज ऐक्ट यानी एमपीडीए कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी. ऐसी सख्त चेतावनी शहर के सीपी डॉ. निखिल गुप्ता ने दी.

गत माह शहर के सीपी का पदभार संभाले डॉ. गुप्ता ने शहर में कानून व्यवस्था बेहतर बनाए रखने के लिए शहर के चुनिंदा अखबारों के संपादक और राष्ट्रीय अखबारों के स्थानीय पत्रकारों के साथ गुफ्तगु की. उन्होंने सबसे पहले संपादकों और पत्रकारों से शहर कानून सुव्यवस्था को बेहतर बनाए रखने के लिए सुझाव जाने. उसके बाद उनके द्वारा किए जानेवाले कार्यों पर विस्तार से प्रकाश डाला. तब उन्होंने शहर में जमीन से संबंधित बढ़ते मामलों पर चिंता जताते हुए कहा कि भू-माफियाओं की गुंडागर्दी से ही शहर में क्राईम बढ़ रहा है. ऐसे में मैंने भू-माफियाओं पर सख्त कार्रवाई करने की ठानी है. जो भी कानून में फंसेगा उस पर सख्त कार्रवाई तय है. उन्होंने गुंडों और बदमाशों को चेताते हुए कहा कि वे अपनी बुरे कामों से बाज आए. उन्हें सुधरने का अवसर दिया जाएगा. नहीं सुधरेंगे तो उन पर सख्त कानूनी कार्रवाई तय है. डॉ. गुप्ता ने बताया कि गत डेढ़ माह में उन्होंने 2 लोगों पर एमपीडीए कानून के तहत कार्रवाई की है. 

यातायात गंभीर समस्या 

शहर के प्रतिष्ठित अखबारों के संपादकों द्वारा औरंगाबाद में यातायात की बढ़ती समस्याओं से अवगत कराने के साथ ही उसे हल करने के लिए दिए गए सुझाव पर सीपी डॉ. निखिल गुप्ता ने माना कि शहर में यातायात समस्या गंभीर है. मैंने सीपी का पदभार संभालने के बाद शहर की यातायात समस्या हल करने विशेष लक्ष्य रखा है. इसीलिए मैंने यातायात पुलिस कर्मियों को यातायात नियमों का उल्लघंन करनेवालों पर सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिया है. उन्होंने साफ कहा कि शहर का जो भी नागरिक नियमों का पालन नहीं करेगा, उस पर कार्रवाई होकर रहेंगी. जिसमें खासकर ट्रिपल सीट, सिग्नल तोड़ना आदि पर कार्रवाई जारी  है. उन्होंने बताया कि मैंने यातायात पुलिस कर्मियों को राजस्व वसूनले के लिए कोई टार्गेट नहीं दिया है. शहर की यातायात समस्या हल करने मैंने मनपा प्रशासक आस्तिककुमार पांडेय से समन्वय बनाकर काम करना शुरु किया है. यातायात समस्या हल करने के लिए उनसे कई बार विस्तार से चर्चा हुई. ऐसे में यातायात समस्या हल करने के लिए शहर पुलिस का मुखिया होने के नाते मेरा मनपा प्रशासन को हर तरह का सहयोग रहेगा. सीपी ने कहा कि शहर की यातायात समस्या हल करने क्या करना चाहिए उसके लिए शहरवासियों से सुझाव लिए जाएंगे. 

जनता को पुलिस से क्या चाहिए यह जानने में जूटा हूं 

कानून सुव्यवस्था बेहतर बनाए रखने के लिए कम्युनिटी पुलिसिंग पर मेरा जोर है. जनता को पुलिस से क्या चाहिए? यह जानने मैंने दिलचस्पी बढ़ाई है. जनता को समझने पर ही हम कम्युनिटी पुलिसिंग पर कामयाब होंगे. वैसा यह बहुत बड़ा कन्सप्ट है. सीपी डॉ. गुप्ता ने साफ किया कि मैं यहां काम करने के लिए आया हूं. ऐसे में मेरे मातहत काम करनेवाले अधिकारियों को काम करना ही होगा. शहर की जनता की समस्याओं को जानने मैंने शाम 7 से रात 9 बजे तक हर पुलिस थाना में कार्यरत कुल पुलिस कर्मचारियों में से 30 प्रतिशत कर्मचारियों को पैदल सड़क पर पेट्रोलिंग करने के आदेश जारी किया है. आज शहर में 2 हजार से अधिक  पुलिस कर्मचारी तैनात है. ऐसे में 500 से अधिक पुलिस कर्मचारी शाम में सड़कों पर पेट्रोलिंग कर परिसर के नागरिकों से संवाद साध रहे हैं. 

बातचीत से हर समस्या का हल निकाला जाएगा

डॉ. गुप्ता ने कहा कि शहर के वातावरण पर शहर की प्रगति निर्भर होती है. औरंगाबाद शहर की पहचान भले ही संवेदनशील शहर के रुप में हो, लेकिन मैंने इससे पूर्व नाशिक जिले के एसपी रहते मालेगांव में दोनों समुदाय में बेहतर संबंध बनाए रखने के लिए बातचीत से कई समस्याओं को हल निकाला. औरंगाबाद शहर में भी धर्मगुरु, राजनेताओं के सहयोग से शांति बनाए रखने में मैं कामयाब रहूंगा. 

बाइक चोरियों की बढ़ती घटनाओं पर सीपी ने जताई चिंता 

शहर में आए दिन बाइक चोरी की बढ़ती घटनाओं पर सीपी डॉ. निखिल गुप्ता ने चिंता जताते हुए कि इस पर रोक लगाने के लिए पुलिस प्रशासन द्वारा हर संभव प्रयास जारी है. उन्होंने बताया कि शहर को जुड़नेवाले छोटे-बड़े 32 रास्ते है. बाहरी शहरों से आकर चोर बाइक चोरी कर यहां से चलते बनते है.  पुलिस ने बाइक चोरी की घटनाओं को लगाम लगाने के लिए कई उपाय किए है. जिसमें हमें कामयाबी मिल रही है. सीपी ने बताया कि हमारी शहर के सेकंड हैंड वाहन बेचनेवालों पर भी कड़ी नजर है. उन्होंने शहरवासियों से अपील की है कि वे अधिकृत किए गए बाइक स्टैंड पर ही अपने वाहन पार्क करें. पार्किंग के 5 से 10 रुपए बचाने के चक्कर में लोगों के बाइक चोरी हो रही है. सीपी डॉ. निखिल गुप्ता ने शहर में ड्रग्ज की बढ़ती बिक्री पर चिंता जताते हुए साफ किया कि वे ड्रग्ज माफिया समाज के सबसे बड़ी अपराधी है. नशा के कारण ही लोग क्राइम कर बैठते है. ऐसे में ड्रग्ज माफियों पर कार्रवाई पर पुलिस करीब से नजर रखकर सख्त कार्रवाई करेगी. अंत में उन्होंने साफ किया कि शहर की होटल्स देर रात खुले नहीं रहेंगे. इस दौरान डीसीपी मीना मकवाना और विशेष शाखा के एसीपी अशोक बनकर उपस्थित थे.