Number of patients will be strictly controlled

    औरंगाबाद. औरंगाबाद जिले (Aurangabad District) में बढ़ते कोरोना मरीजों (Corona Patients) की संख्या को देखते हुए इस पर नियंत्रण लाना जरुरी होने के कारण प्रशासन को चरणबद्ध तरीके से सख्त निर्णय लेना जरुरी था। मरीजों की संख्या को नियंत्रण में लाने के लिए पहले नाइट कर्फ्यू (Night Curfew), फिर आंशिक लॉकडाउन और अब संपूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) का निर्णय (Decision) लिया गया है। लॉकडाउन काल में प्रशासन और जनप्रतिनिधि समन्वयता से काम करेंगे। लॉकडाउन में नियमों का सख्ती से पालन कर मरीजों की संख्या नियंत्रण में लाई जाएगी। यह विश्वास कलेक्टर  सुनील चव्हाण ने यहां जताया।

    जिलाधिकारी कार्यालय में आयोजित जिला और शहरी परिसर के कोरोना परिस्थति जायजा बैठक को मार्गदर्शन करते हुए कलेक्टर सुनील चव्हाण ने यह बात कहीं। बैठक में सांसद इम्तियाज जलील, जिला परिषद अध्यक्ष मीनाताई शेलके, विधायक सतीश चव्हाण, विधायक हरिभाऊ बागडे, अतुल सावे, प्रदीप जैसवाल, संजय सिरसाठ, सीपी डॉ. निखिल गुप्ता, जिला परिषद सीईओ डॉ. मंगेश गोंदावल, मनपा कमिश्नर आस्तिक कुमार पांडेय, एसपी मोक्षदा पाटिल सहित कई विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। 

    उपायों की जानकारी प्रेजेंटेशन के जरिए दी

    बैठक में कलेक्टर चव्हाण ने उपस्थित जनप्रतिनिधियों को प्रशासन द्वारा किए जा रहे उपायों की जानकारी प्रेजेंटेशन के जरिए दी। चव्हाण ने कहा कि मरीज दाखिल करने के लिए जारी नियमों का सख्ती से पालन कर कोरोना के लक्षण न दिखाए देनेवाले तथा मामूली संक्रमित मरीजों को सीसीसी में उपचार उपलब्ध कराएं। जिले में मरीजों की संख्या को ब्रेक लगाने के लिए प्रशासन काफी चिंतित होकर काम कर रहा है।

    मजबूरी में लॉकडाउन का निर्णय

    शहर में हॉट स्पॉट बढऩे के कारण मजबूरन लॉकडाउन का निर्णय लेना पड़ा। लॉकडाउन काल में स्वास्थ्य यंत्रणा को अपनी क्षमता बढ़ाने के लिए मदद होगी। बढ़ती मरीजों की संख्या को ध्यान में रखकर बेड की क्षमता बढ़ाने का प्रशासन का जोर रहेंगा। जिले में बुखार तथा सारी से पीडित मरीजों का सर्वे जारी है। लॉकडाउन काल में शहर तथा ग्रामीण परिसर में नियमों का पालन नहीं करने वालों पर कई स्थानों पर कार्रवाई की गई। यह कार्रवाई और तेज की जाएगी।

    निर्माण कार्य  के कामगारों को लॉकडाउन में छूट दी जाए

    लॉकडाउन के दौरान निर्माण कार्य के कामगारों को छूट देने की मांग विधायक हरिभाऊ बागडे ने की। मरीजों को समय पर उपचार पर बल देते हुए बागडे ने आए दिन कोरोना से मरनेवालों की बढ़ती की संख्या पर चिंता जताई। विधायक सावे, विधायक सतीश चव्हाण, विधायक संजय सिरसाठ ने भी अपने विचार रखें।