Modi

औरंगाबाद. जिले के गाडीवाट जिला परिषद स्कूल के छात्र आधुनिक तकनीक की सहायता से जापानी भाषा सीख रहे हैं. विदेशी भाषा सिखानेवाली महाराष्ट्र की प्रथम सरकारी स्कूल है. इस स्कूल के काम की दखल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ली है. मन की बात अपडेट्स ट्वीटर हैंडल से इस स्कूल के बारे में ट्वीट किया गया.  इन छात्रों की मन की बात में प्रशंसा होगी.                            

फलोत्पादन मंत्री संदिपान भुमरे ने दौरा किया था

लॉकडाउन काल में गाडीवाट और वरवंडी तांडा में स्कूली छात्रों को ऑनलाइन के माध्यम से शिक्षा दी जा रही है. वहां की नवीनता पूर्ण उपक्रम की जानकारी हासिल करने राज्य के फलोत्पादन मंत्री संदिपान भुमरे ने उन गांवों का हाल ही में दौरा किया था. औरंगाबाद से 25 किलोमीटर दूर गाडीवाट के जिला परिषद स्कूल के छात्र तकनीकी ज्ञान की सहायता से जपनीज भाषा सीख रहे है. साथ ही विषय मित्र और अभिभावक मित्रों की मदद से भौगोलिक क्षेत्र के अनुसार किए हुए गुट से अपना पाठयक्रम पूरा कर रहे हैं. 

सरकार से सहयोग मिलेगा : सीईओ जिला परिषद 

जिला परिषद के सीईओ डॉ. मंगेश गोंदावले ने बताया कि वरवंडी तांडा के छात्रों ने साल भर का पाठयक्रम स्कूल बंद होने के बावजूद 3 माह में पूरा किया. अब आगामी काल में यह छात्र जर्मनी भाषा के साथ ही पाठयक्रम को छोडकर अन्य कई बाते सीखेंगे. वरवंडी तांडा के 4 ग्राम वासियों ने अपनी खुद की जमीन स्कूल के लिए दान दी है. गाडीवाट को भी सभी ने सहकार्य किया है. दोनों स्कूलों के प्रशासन और सरकार की ओर से पूरा सहकार्य देने की बात सीईओ डॉ. मंगेश गोंदावले ने दी.