SP Mokshada Patil

  • अपराधों को उजागर करने में दिखाई तत्परता

औरंगाबाद. औरंगाबाद ग्रामीण (Aurangabad Rural) की एसपी मोक्षदा पाटिल (SP Mokshada Patil) ने जब से पदभार संभाला हैं, तब से उन्होंने अपराधों को उजागर करने में तत्परता दिखानेवाले अधिकारियों ( Police Officers) और कर्मचारियों (Staff) को सम्मानित करने का सिलसिला जारी रखे हुए हैं। 

उन्होंने मासिक अपराध समीक्षा बैठक के दौरान हत्या, चोरी और अन्य गंभीर मामलों को उजागर करने में तत्परता दिखानेवाले पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को सम्मानित किया।

पैठण ट्रिपल हत्याकांड काफी चर्चा में था  

इसमें विशेषकर पूरे राज्य में बहुचर्चित जिले के पैठण थाना में दाखिल ट्रिपल हत्याकांड का अपराध ग्रामीण पुलिस ने उजागर कर आरोपियों को गिरफ्तार किया। कन्नड ग्रामीण थाना में दर्ज हत्या का अपराध सिर्फ 3 घंटे में उजागर कर आरोपी को गिरफ्तार किया। करमाड थाना में दर्ज हत्या का अपराध भी तत्काल उगाजर कर आरोपी को गिरफ्तार किया गया। इन तीनों अपराधों को तत्परता से उजागर करने को लेकर पैठण थाना के एपीआई गोरख भामरे, डीवायएसपी विशाल नेहुल, ग्रामीण क्राइम ब्रांच के पीआई भागवत फुंदे, कन्नड के पीआई सुनील नेवसे, पैठण थाना के पीआई केएस पवार, करमाड थाना के पीआई संतोष खेतमालस, क्राइम ब्रांच के पीएसआई संदीप सोलंके, गणेश राउत,कन्नड थाना के पीएसआई राजू नागलोद के अलावा  क्राईम ब्रांच के पुलिस हवालदार  सैयद जिया, विक्रम देशमुख, प्रमोद खांडे भराड, श्रीमंत भालेराव, धीरज जाधव, वाल्मिक निकम, राहुल पगारे, संजय भोसले, उमेश बकले, नरेन्द्र खंदारे, ज्ञानेश्वर मेटे, संजय तांदले, योगेश तरमले, जीवन घोलप सहित कन्नड ग्रामीण थाना के संजय काले, संजय भोसले, शेख नदीम चॉंद, सुरेखा वाघ, गणेश गांगवे के अलावा करमाड थाना में कार्यरत  सिराज पठाण, सुनील गोरे, नागनाथ केन्द्रे, नामदेव धोंडकर, सीमा घुगे को प्रशंसापत्र देकर  उनकी पीठ थपथपायी।

एसपी ने थपथपायी पीठ

जिले के फुलंब्री थाना में धारा 395 के तहत दर्ज मामले में 9 आरोपियों को उजागर कर उनसे 14 लाख 20 हजार का माल जब्त किया गया। वडोद बाजार थाना में  धारा 395 के तहत दज मामले में 7 आरोपी गिरफ्तार कर उनसे 4 लाख 6 हजार 800 रुपए का माल जब्त किया गया। सिल्लेगांव थाना में धारा 457, 380 के तहत दर्ज मामले में 1 लाख 90 हजार का माल जब्त किया गया। इसके अलावा  करमाड और चिकलथाना थाना क्षेत्र में भी विविध गंभीर मामले उजागर करनेवाले अधिकारियों और कर्मचारियों को सम्मानित किया गया।