Police work in lockdown commendable

    औरंगाबाद. बीते एक साल से अधिक समय से हम कोरोना (Corona) महामारी का मुकाबला कर रहे है। ऐसे में जनता के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए पुलिस अधिकारी (Police Officer) और कर्मचारी 16 से 18 घंटे ड्यूटी (Duty) कर  सख्त लॉकडाउन (Strict Lockdown) और निषेधाज्ञा  पर सख्ती से अमलीजामा पहना रहे है। अप्रैल माह से राज्य भर में लगाए गए लॉकडाउन में महाराष्ट्र पुलिस पूरे राज्य में बेहतर काम कर रही है। लॉकडाउन  में पुलिस विभाग का कार्य  काफी सराहनीय है। यह बात राज्य के गृह राज्यमंत्री (ग्रामीण) शंभुराज देसाई (Shambhuraj Desai) ने यहां कहीं।

    रविवार को गृह राज्यमंत्री देसाई ने औरंगाबाद के एसपी कार्यालय पहुंचकर कोविड-19 को लेकर जिले भर की  कानून और सुव्यवस्था का जायजा लिया। उसके बाद आयोजित प्रेस वार्ता में देसाई ने पुलिस दल के कार्य की प्रशंसा करते हुए उनके कार्यों को सराहा। उन्होंने बताया कि पिछले कुछ दिनों से मैं राज्य के कई जिलों का दौरा कर वहां की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा ले रहा हूं। आज औरंगाबाद में पुलिस के आला अधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना महामारी को लेकर जिला पुलिस द्वारा किए जा रहे कार्यों का जायजा लेने के साथ ही उनकी अड़चनों को जाना। उन अड़चनों को जल्द हल करने का प्रयास गृह मंत्रालय द्वारा किया जाएगा।

    लॉकडाउन के कारण ही महाराष्ट्र में संक्रमितों की संख्या घटी 

    अप्रैल माह के आरंभ में  महाराष्ट्र में प्रतिदिन 60 से 65 हजार कोविड मरीज संक्रमित पाए जा रहे थे। महामारी को रोक लगाने के लिए  राज्य सरकार ने पहले 30 अप्रैल तक लॉकडाउन लगाया। सरकार के निर्णय फायदा यह हुआ कि आज राज्य में संक्रमितों की संख्या में गिरावट आई है।  लॉकडाउन के बाद जिले के हर सीमाओं को सील किया गया है। एक एक जिले में 8 से 10 सीमाएं है। वहां चेक पोस्ट बनाकर पुलिस अधिकारी और कर्मचारी  दिन-रात वहां तैनात रहकर चेकिंग का कार्य बेहतर रुप से कर रहे है। पुलिस को बिना बल के प्रयोग किए लॉकडाउन पर सख्ती से अमलीजामा पहनाने के आदेश गृह मंत्रालय द्वारा दिए हुए है। उस आदेश के तहत पुलिस अधिकारी और कर्मचारी जनता की सेवा में दिन-रात जूटे हुए है। पहले चरण में 30 अप्रैल तक जारी लॉकडाउन पर सख्ती से अमलीजामा पहनाया गया। लॉकडाउन 15 मई तक बढ़ाया गया है, तब तक और अधिक सख्ती पुलिस द्वारा बरतकर राज्य की जनता को कोरोना महामारी से  सुरक्षित रखने का प्रयास जारी है। 

    प्रसन्ना और मोक्षदा पाटिल के कार्यों की प्रशंसा 

    औरंगाबाद रेंज के विशेष पुलिस महानिरीक्षक के.एम. प्रसन्ना और औरंगाबाद ग्रामीण की एसपी मोक्षदा पाटिल द्वारा किए जा रहे कार्यों की गृहराज्य मंत्री शंभुराज देसाई ने प्रशंसा की। उन्होंने प्रसन्ना द्वारा यूनिक पैटर्न के तहत औरंगाबाद रेंज के 4 जिलों के 87 पुलिस थानों के इमारतों के सफाई के साथ एक ही कलरिंग कर थानों की एक अलग पहचान बनाने के किए कार्य की  प्रशंसा की। साथ ही औरंगाबाद ग्रामीण की एसपी मोक्षदा पाटिल द्वारा महिला पुलिस कर्मचारियों को अपराधों के जांच की जिम्मेदारी सौंपने को लेकर किए कार्य को सराहते हुए कहा कि इन दोनों की संकल्पनाओं को पूरे राज्य में अमलीजामा पहनाने पर गृह मंत्रालय विचार कर रहा है। 

    पारदर्शक रुप से काम कर रही आघाडी सरकार 

    पिछले कुछ दिनों से गृह मंत्रालय पर लग रहे आरोपों को लेकर पूछे गए सवाल पर गृह राज्यमंत्री शंभुराज देसाई ने विरोधी पक्ष भाजपा का नाम लिए बिना कहा कि आघाडी सरकार को बदनाम करने का काम विरोधियों द्वारा जारी है। राज्य में आघाडी सरकार प्रभावी रुप से काम कर रही है। ऐसे में आरोप-प्रत्यारोप तो जारी रहेंगे। पत्रकार परिषद में औरंगाबाद रेंज के विशेष पुलिस महानिरीक्षक केएमएम प्रसन्ना, एसपी मोक्षदा पाटिल के अलावा जिले के अन्य अधिकारी उपस्थित थे।