बिजली चाेरों ने की महावितरण कर्मचारियों की पिटाई

  • 6 के खिलाफ अपराध दर्ज

औरंगाबाद. बिजली चोरी के लिए लगाए जाने वाले आंकड़े निकालने की मुहिम महावितरण द्वारा जारी है. इस मुहिम के दरमियान बिजली चोरी के आंकड़े निकालने पर गुस्साए लोगों ने महावितरण कर्मचारियों की पिटाई कर दी. साथ ही पुलिस थाने में शिकायत देने पर जान से मारने की धमकी भी दी. इस घटना के बाद महावितरण के कर्मचारियों ने बीड ग्रामीण थाने में दी शिकायत पर मामला दर्ज किया गया.

महावितरण के औरंगाबाद प्रादेशिक कार्यालय के उपमुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुनील जाधव ने बताया कि बीते दिनों सहव्यवस्थापकीय संचालक डॉ. नरेश गिते ने आंकड़े डालकर बिजली चोरी के बढ़ते प्रमाण से ट्रान्सफार्मर जलने के मामलों में इजाफा हो रहा था. ट्रान्सफार्मर जलने के प्रमाण को कम करने के लिए डॉ. गिते ने आंकड़े निकालने की मुहिम शुरू करने के आदेश दिए थे. इस आदेश पर लातूर परिमंडल के मुख्य अभियंता दिलीप भोले, अधीक्षक अभियंता आरजी कोलप के मार्गदर्शन में  महावितरण कर्मचारियों ने बीड ग्रामीण  क्षेत्र में बिजली चोरी के आंकड़े निकालने की मुहिम हाथ में ली.

इस मुहिम के दरमियान संभाग के बीड़ जिले के ग्रामीण क्षेत्र के काटकर बस्ती, खापरपांगरी में आंकड़े डालकर बिजली चोरी जारी थी. महावितरण के वरिष्ठ तकनीकी कामगार ज्ञानेश्वर शिंदे व उनके  सहकर्मी संदिप पाखरे, किरण अंदुरे, रामेश्वर लाटे, गणेश जानवले ने बिजली चोरी के आंकड़े निकाले, इससे गुस्साएं आरोपी अंगद रावसाहाब काटकर, पत्नी सुग्रील काटकर, बाबासाहाब रावसाहाब काटकर, बालू काटकर ने महावितरण के कर्मचारियों को पिटाई कर उन्हें जान से मारने की धमकी दी. इस घटना के बाद वरिष्ठ तकनीकी कामगार ज्ञानेश्वर शिंदे ने दी शिकायत पर बीड़ ग्रामीण थाना में भारतीय दंड संहिता की धारा 353, 332, 504, 506, 143, 149 के तहत अपराध दर्ज किया गया. जाधव ने बताया कि  बिजली चोरी के आंकड़े निकालने की मुहिम इसके आगे भी जारी रहेंगी. जनता ने अधिकृत बिजली कनेक्शन लेकर ही बिजली का इस्तेमाल करने की अपील महावितरण के सहव्यवस्थापकीय संचालक डॉ. नरेश गिते ने मराठवाड़ा के बिजली उपभोक्ताओं से की है.