औरंगाबाद जिले के बिजली प्रश्न जल्द हल होगा

औरंगाबाद. औरंगाबाद जिले के उद्योग, किसान को सूचारु बिजली आपूर्ति करने के लिए जिलाधिकारी और महावितरण के सह संचालक ने संयुक्त रुप से उपाय योजनाएं कर उस बारे में एक रिपोर्ट जल्द पेश करने के निर्देश औरंगाबाद के पालकमंत्री और राज्य के उद्योगमंत्री सुभाष देसाई ने मुंबई में आयोजित बैठक में दिए.

औरंगाबाद जिले के बिजली प्रश्न पर पालकमंत्री सुभाष देसाई के अध्यक्षता में मंत्रालय में बैठक संपन्न हुई. बैठक में उर्जा मंत्री नितिन राउत, राजस्व राज्यमंत्री अब्दुल सत्तार सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि उपस्थित थे. जिले के कृषि पंपों को नियमिति बिजली आपूर्ति नहीं हो पाती. कई स्थानों पर ट्रान्सफार्मर में खराबी होने की कई शिकायतें हैं. ट्रान्सफार्मर के लिए ऑईल उपलब्ध नहीं हो पाता. शहर के 33 के वी उपकेन्द्रों को अखंडित बिजली आपूर्ति करने के लिए पडेगांव में 220 केवी लाइन उपलब्ध कराकर देने की मांग विधायक अंबादास दानवे  ने की. कन्नड विभाग का विभाजन कर सिल्लोड विभाग की निर्मिती करना, कृषि पपों को बिजली आपूर्ति सूचारु करना आदि मांगे जनप्रतिनिधियों ने बैठक में की. इस पर पालकमंत्री देसाई और उर्जा मंत्री नितिन राउत ने सकारात्मक प्रतिसाद दर्शाया.

 पालकमंत्री ने दिया प्रश्न को हल करने का आश्वासन 

ट्रान्सफार्मरों को लगनेवाला ऑइल स्थानीय स्तर पर उपलब्ध करार देने की तैयारी महावितरण कंपनी ने दर्शायी. कई उपकेन्द्रों पर बिजली का दबाव कम करने की सूचनाएं दी गई. दरमियान इन सभी प्रश्नों पर जिलाधिकारी और महावितरण के सहसंचालकों ने एकत्रित उपाय योजना करनेवाली रिपोर्ट पेश करने की सूचना पालकमंत्री देसाई ने देकर  जिले के बिजली प्रश्न तत्काल हल करने का आश्वासन दिया. किसानों और उद्योजकों को राहत देने का आश्वासन भी पालकमंत्री देसाई ने दिया. बैठक में सांसद डॉ. भागवत कराड, विधायक अंबादास दानवे, उदयसिंह राजपूत, रमेश बोरनारे, अतुल सावे के अलावा ऊर्जा सचिव असीम कुमार गुप्ता, जिलाधिकारी सुनील चव्हाण, महावितरण के संचालक नरेश गिते, कार्यकारी अभियंता खंदारे उपस्थित थे.