पेट्रोल-डीजल के दामों में वृध्दि को लेकर विरोध तेज

– कांग्रेस ने जिलाधिकारी कार्यालय के सामने दिया धरना

औरंगाबाद. बीते एक पखवाड़े से देश में पेट्रोल व डीजल के दामें में लगातार वृद्धि की जा रही है. इसके खिलाफ औरंगाबाद शहर व जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से जिलाध्यक्ष डॉ. कल्याण काले व शहराध्यक्ष मोहम्मद हिशाम उस्मानी के नेतृत्व में जिलाधिकारी कार्यालय के सामने धरना आंदोलन किया गया. आंदोलन में सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया. 

आंदोलन के दरमियान कांग्रेस के कुछ पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी उदय चौधरी को  ज्ञापन सौंपकर पेट्रोल-डीजल के दामों में हो रही वृध्दि पर केन्द्र सरकार का निषेध कर तत्काल दाम कम करने की मांग की.

कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कलेक्टर चौधरी को सौंपे ज्ञापन में कांग्रेस ने बताया कि केन्द्र सरकार ने देश में बेतहासा डीजल व पेट्रोल के दाम में वृध्दि की है. उसका असर आम आदमी पर होकर उसकी आर्थिक स्थिति बिगड़ रही है. वर्तमान में कोरोना महामारी को लेकर जारी लॉकडाउन, आर्थिक मंदी इन सभी कारणों के चलते देश का  आम आदमी परेशान है. अंतर्राष्ट्रीय व्यापार पेठ में कच्चे तेल के बैलर के दाम कम होने के बावजूद केन्द्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल के दामों में बेतहासा वृध्दि की है. सरकार को तत्काल पेट्रोल-डीजल के दाम में की वृध्दि वापस लेकर दाम कम करने की मांग कांग्रेस पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को सौंपे ज्ञापन में की है.

आंदोलन में जिला परिषद की अध्यक्ष मीनाताई शेलके, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश उपाध्यक्ष प्रकाश मुगदिया, वरिष्ठ नेता अनिल पटेल, सेवा दल के प्रदेशाध्यक्ष विलास बापू औताडे, पूर्व शहराध्यक्ष नामदेव पवार, किरण पाटिल डोणगांवकर, रामुकाका शेलके, संदिप बोरसे, चन्द्रभान पारखे, पंकज ठोंबरे, डॉ. जितेन्द्र देहाडे, शहर महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सरोज मसलगे, तहसील महिला कांग्रेस की अध्यक्ष कविता शिंदे, सुनीता मारग, इब्राहिम पठान, भाउसाहाब जगताप, बालू सेठ गुजर, संजय औताडे, कैसर आजाद, गुलाब पटेल, इकबाल सिंह गिल,मोहसीन खान, जफर खान पठान, अयुब शहा, शेख कैसर बाबा, मोईन शेख हर्सूलकर, सुभाष देवकर, नदीम सौदागर, सलमान पटेल ने हिस्सा लिया.