Chandrakant Khaire

    औरंगाबाद. गत वर्ष पूरे देश में कोरोना महामारी (Corona Epidemic) ने पांव पसारने के बाद लोगों को राहत पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष (Prime Minister Relief Fund) में बड़े पैमाने पर निधि देश भर से जमा किया गया। इसमें महाराष्ट्र (Maharashtra) के कई उद्योजकों और नामचीन लोगों ने करोड़ों का निधि पीएम रिलीफ फंड में दिया। इस करोड़ों के निधि का हमें कोई हिसाब नहीं चाहिए। इस निधि से मराठवाडा को सिर्फ 500 वेंटिलेटर केन्द्र सरकार उपलब्ध कराए यह  मांग शिवसेना नेता (Shiv Sena leader) और पूर्व सांसद चन्द्रकांत खैरे (Chandrakant Khaire) ने की है। उन्होंने 500 वेंटिलेटर (Ventilators) पाने के  लिए राज्य के पूर्व सीएम देवेन्द्र फडणवीस ने पीएम मोदी से गुहार लगाने की अपील करते हुए उन पर तंज कसा।  

    खैरे ने बताया कि राज्य के कई उद्योगपतियों ने केन्द्र सरकार के पीएम रिलीफ फंड में हजारों करोड़ों रुपए का निधि जमा किया। इसके ऐवज में केन्द्र सरकार ने महाराष्ट्र को क्या दिया? यह सवाल करते हुए चन्द्रकांत खैरे ने राज्य के विरोधी पक्ष नेता देवेन्द्र फडणवीस द्वारा राज्य के स्वास्थ्य व्यवस्था पर उठाए सवाल पर नाराजगी जताई। उन्होंने फडणवीस द्वारा केन्द्र सरकार ने महाराष्ट्र को 20  हजार करोड़ रुपए दिए जाने के बयान पर तंज कसते हुए कहा कि यह पैसे कब उपलब्ध कराए गए, उसका स्पष्टीकरण फडणवीस दें। खैरे ने इन दिनों मराठवाड़ा में कोरोना कहर बरपा रहा है। ऐसे में  महाराष्ट्र से पीएम फंड को दिया हुआ निधि महाराष्ट्र के मरीजों को अधिक से अधिक स्वास्थ्य सेवाएं कराने के लिए उपलब्ध कराएं,  मराठवाड़ा को 500 वेंटिलेटर उपलब्ध कराएं। 

    200 वेंटिलेटर औरंगाबाद को मिले

    इसमें 200 वेंटिलेटर औरंगाबाद को मिले, यह मांग भी शिवसेना नेता खैरे ने की। में खैरे ने कहा कि वे इसके लिए जल्द ही राज्य के सीएम से चर्चा करेंगे। उन्होंने फडणवीस को सलाह दी कि वे देश के पीएम से गुहार लगाकर तत्काल मराठवाडा को 500 वेंटिलेटर उपलब्ध कराएं।