भ्रष्टाचार को खत्म करने के लि‍ए जनजागृति कार्यक्रम

औरंगाबाद. इस्लामिक रिसर्च सेंटर एज्युकेशन एंड वेलफेयर ट्रस्ट, अल किताब एज्युकेशन सोसाइटी के अलावा सोसाइटी फॉर रिसर्च एंड सस्टेनेबल डेवलपमेंट के संयुक्त तत्वावधान में शहर के रोहिला  गल्ली में स्थित आईआरसी के कार्यालय में अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार विरोधी दिन के उपलक्ष्य में भ्रष्टाचार को खत्म करने के लि‍ए जनजागृति कार्यक्रम संपन्न हुआ. कार्यक्रम में प्रमुख अतिथि के रुप में एंटी करप्पशन ब्यूरो के औरंगाबाद रेंज के पीआई नंदकिशोर  क्षीरसागर प्रमुख रुप से उपस्थित थे. मंच पर आईआरसी के संस्थापक अध्यक्ष एड. सैयद फैज, एपीआई घनशाम सोनवने, डॉ. किशोर उडान, प्रा. फिरोज पठान, प्रा. अर्शद अली खान, प्रा. मो. जफर, मुनव्वर खान उपस्थित थे.

इस अवसर पर अपने विचार में एपीआई घनश्याम सोनवने (API Ghanshyam Sonawane) ने कहा कि लोगों को रिश्वत (bribe) देने की आदत सी हो गई है. रिश्वत दिए बिना हमारे काम नहीं होंगे, लोगों की इस मानसिकता से रिश्वतखोरी पनपी है. एक देश का विनाश करना है तो उस देश  की शिक्षण व्यवस्था कमजोर कर उस देश में रिश्वतखोरी को बढ़ावा दिया तो उस देश (Country) का विनाश तय है. देश को विनाश से बचाने के लिए लोगों ने आगे आकर रिश्वतखोरी को रोकना चाहिए. तब जाकर ही अपना देश तरक्की कर पाएगा. 

भ्रष्टाचार निर्मूलन की सख्त जरुरत 

एसीबी के पीआई क्षीरसागर ने कहा कि किसी की रिश्वत देने की इच्छा नहीं है, परंतु कोई रिश्वत मांग रहा है तो हम उसके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए तैयार है. एड. सैयद फैज ने कहा कि रिश्वत देनेवाला और स्वीकारने वाला दोनों भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रहे है. ऐसे में भ्रष्टाचार को लगाम लगाने के लिए भ्रष्टाचार निर्मूलन की सख्त जरुरत है. इस अवसर पर खाजा अलीमोद्दीन, मोहसीना सैयद, अदनान रफी, नोमान खान उपस्थित थे.