religious leaders came forward to clean the river Kham

    औरंगाबाद. महानगरपालिका (Municipal corporation) ने खाम नदी (Kham River) को साफ करने के  लिए एक विशेष मुहिम हाथ में ली है। इसके तहत मुहिम के तीसरे चरण में खाम नदी में चलायी गई विशेष सफाई मुहिम में सभी समाज के धर्मगुरुओं के अलावा सैकड़ों लोगों ने हिस्सा लेकर नदी के पात्र से 12 टन कचरा (Garbage) उठाया। साथ ही नदी के किनारे में एक हजार पौधे लगाए गए।

    गौरतलब है कि मनपा प्रशासक और स्मार्ट सिटी के सीईओ आस्तिक कुमार पांडेय ने खाम नदी को साफ करने का निर्णय लेते हुए हर शनिवार को स्वच्छता मुहिम और पौधे लगाने के काम में शामिल होने की अपील औरंगाबाद वासियों से की थी।यह मुहिम औरंगाबाद मनपा, स्मार्ट सिटी, छावनी परिषद, वैरॉक कंपनी तथा इको सत्व के संयुक्त तत्वावधान में  चलायी जा रही है। इस मुहिम में छावनी परिषद के सीईओ विक्रांत मोरे, जिला  खणिकर्म अधिकारी अतुल दौड, मनपा के घनचकरा व्यवस्थापन विभाग के प्रमुख नंदकिशोर भोंबे, उपायुक्त अपर्णा थेटे, यांत्रिकी विभाग के उपअभियंता देविदास पंडित, स्वच्छता निरीक्षक असदुल्ला खान, स्मार्ट सिटी के आदित्य तिवारी उपस्थित थे। इनके अलावा क्रिश्चन समुदाय के धर्मगुरु रेवरंड तिमथी शरद, आरबी गायकवाड, हाफिज अब्दुल हमीद, दत्तप्रसाद जोशी, मंगेश कुलकर्णी, रामकृष्ण बानेगांवकर, महाथेरो हर्ष बोधी, मनिंदरसिंह ग्रंथी, राजासिंह ग्रंथी ने मुहिम में हिस्सा लिया। 

    लगाए एक हजार पौधे 

    इसके साथ ही एमआईटी के एमबीए कॉलेज के छात्र, प्राध्यापक, इको सत्व, मनपा के यांत्रिकी, उद्यान, घनकचरा, व्यवस्थापन विभाग, स्मार्ट सिटी, एजीओ लाईफ केयर संस्था तथा नागरिकों ने हिस्सा लिया। मुहिम के  दरमियान 12 टन कचरा निकाला गया। वहीं, 1 हजार पौधे लगाए गए। मनपा आयुक्त आस्तिककुमार पांडेय ने मुहिम सभी समाज के उपस्थित धर्मगुरुओं का आभार माना। नदी के किनारे रहनेवाले नागरिक नदी की सफाई पर विशेष ध्यान देकर नदी में कचरा नहीं गिरे, इस पर विशेष ध्यान  दें,  यह अपील भी पांडेय ने की।