Shiv Sena does not discriminate in any caste, religion - rendering of army spokesperson Danve

    औरंगाबाद. इस भारत भूमि को अपनी भूमि माननेवाला हर व्यक्ति शिवसैनिक (Shiv Sainik) है। इसलिए किसी भी जाति धर्म में भेदभाव शिवसेना (Shiv Sena) नहीं करती है। समाज के गरीब और आम आदमी के सेवा के साथ ही हर जाति धर्म के लिए शिवसेना का गठन हुआ है। समाज के हर व्यक्ति को जोड़ने के लिए शिवसंपर्क मुहिम (Shivsampark Campaign) चलाई जा रही है। शिवसेना की ताकत बढ़ाने के लिए शिवसैनिक ने इमानदारी और लगन से काम किया है, यह प्रतिपादन शिवसेना के प्रवक्ता और विधायक अंबादास दानवे (MLA Ambadas Danve) ने यहां किया।

    शिवसंपर्क मुहिम के तहत छावनी परिसर में आयोजित बैठक में शिवसैनिकों  को मार्गदर्शन करते हुए दानवे ने कहा कि, पिछले डेढ़ साल से पूरा देश कोरोना महामारी का मुकाबला कर रहा है। इस महामारी के चलते संगठन को देश के हर कोने में पहुंचाने में कई दिक्कते आ रही है। राज्य के हर व्यक्ति को शिवसेना से जोड़ने के लिए 11 से 31 जुलाई के दरमियान शिवसंपर्क मुहिम चलाई जा रही है।

    प्राथमिकता से हल की जाएगी छावनी की पेयजल समस्या 

    विधायक दानवे ने छावनी वासियों को आश्वासन देते हुए कहा कि इस परिसर की पेयजल समस्या वे तत्काल हल करेंगे। दानवे ने कहा कि मैं जानता हूँ कि छावनी वासी बीते कई सालों से पेयजल समस्या का सामना कर रहा है। इस परिसर के नागरिकों की पेयजल समस्या हल करने को तरजीह दूंगा।  इस अवसर पर उपजिला प्रमुख राजु राठौड़, शहर प्रमुख विजय  वाघचौरे, पूर्व  डिप्टी मेयर राजेन्द्र जंजाल, उपशहर प्रमुख किशोर कच्छवाह, महिला आघाडी की सहसंपर्क संगठक सुनीता आउलवार,जिला संगठक सुनीता देव, उपजिला संगठक अनिता मंत्री, अंजली मांडवकर, शहर संगठक आशा दातार, विधानसभा संगठक लक्ष्मी नरहिरे आदि उपस्थित थे।