8 अगस्त से शुरु होगा सिरो सर्वेक्षण

  • 5 हजार लोगों के लिए जाएंगे नमूने

औरंगाबाद. शहर के किस क्षेत्र  में कोरोना संक्रमण का प्रसार कितने तेजी से फैला, इसे ढूंढने के लिए दिल्ली पैटर्न के अनुसार सिरो सर्वे करने की सूचना बीते सप्ताह औरंगाबाद दौरे पर आए. केन्द्रीय दल के प्रमुख कृणाल कुमार ने मनपा प्रशासन से की थी. उस सूचना के आधार पर मनपा प्रशासन ने तैयारी शुरु की है. 8 अगस्त से सिरो सर्वे शुरु करने का निर्णय मनपा प्रशासन ने लिया है. यह जानकारी मनपा की मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नीता पाडलकर ने दी.

 लोगों के खून के नमूने लिए जाएंगे

उन्होंने बताया कि एंटीबॉडी यानी प्रतिकार शक्ति बढ़ाए हुए नागरिकों ढूंढने के लिए हर प्रभाग निहाय नागरिकों के खून के नमूने लिए जाएंगे. जिसमें 5 हजार लोगों के  नमूने लेने का नियोजन किया जा रहा है. शहर के हर परिसर में कोरोना का संक्रमण तेजी से फैला था. इसलिए इस परिसर के नागरिकों की प्रतिकार शक्ति, नैसगिक रूप से बढ़ती है, इसलिए इस सर्वेक्षण से खून के नमूने लेकर किस परिसर में कितने  प्रमाण में नागरिकों में प्रतिकार शक्ति बढ़ी हैं, इसका अंदाज आएगा. उसके अनुसार किस परिसर में कोरोना का डर अधिक है, इसका अंदाज आएगा. ताकि, उस क्षेत्र पर मनपा प्रशासन और अधिक लक्ष्य केन्द्रीत कर सकें. डॉ. पाडलकर ने बताया कि एंटीबॉडी को ढूंढने के लिए इस्तेमाल किए जानेवाले एक किट का खर्च करीब 3 हजार रुपए  है.

5 हजार नागरिकों के नमूनों का लक्ष्य

शहर के 115 वार्ड में 5 हजार नागरिकों के नमूने लेने का नियोजन मनपा ने किया है. शहर वासियों ने इस सर्वे के लिए मनपा प्रशासन को सहकार्य करने की अपील मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नीता पाडलकर ने की है.