लॉकडाउन का प्रथम दिन कामयाब

  • सीपी चिरंजीव प्रसाद ने माना औरंगाबाद वासियों का आभार 

औरंगाबाद. शहर में कोरोना के बढ़ते कहर को ब्रेक लगाने के लिए प्रशासन द्वारा शुक्रवार से 9 दिन के लिए शुरु किए गए लॉकडाउन के प्रथम दिन औरंगाबाद वासियों ने जबरदस्त प्रतिसाद दिया. लॉकडाउन के चलते  शहर के हर इलाकों के नागरिकों ने घरों में रहने को तरजीह दी, बल्कि शहर के सभी सड़कों पर सन्नाटा छाया है. इस पर शहर के पुलिस आयुक्त चिरंजीव प्रसाद ने खुशी जाहिर कर औरंगाबाद वासियों का आभार माना.

उन्होंने चुनिंदा मीडिया कर्मियों से बातचीत में  कहा कि प्रशासन द्वारा लॉकडाउन की घोषणा करने  के बाद लोगों ने सप्ताह भर से अधिक की जरुरी सामग्री खरीदकर रखी हैं. मनपा व पुलिस प्रशासन ने लॉकडाउन के लिए औरंगाबाद वासियों को सहकार्य करने की जो अपील की थी, उसे औरंगाबाद वासियों ने जबरदस्त प्रतिसाद दिया. शहर की सभी दुकानें बंद हैं. पुलिस ने बाइक पर घूमने पर बैन लगाया है. कुछ खास कैटगिरी वाले लोगों को ही बाइक पर घूमने के लिए परमिशन दी गई है. जिससे सड़कों पर अनावश्यक भीड़ नहीं उमड़ी. जिससे पुलिस के अधिकारियों व कर्मचारियों को बंदोबस्त में बड़ी आसानी हो रही है. 

लॉकडाउन के बाद शहर में कोरोना को लगेगा ब्रेक

सीपी चिरंजीव प्रसाद ने कहा कि शहर में कोरोना के बढ़ते कहर को ब्रेक लगाने के लिए प्रशासन ने काफी विचार विमर्श कर 9 दिन लॉकडाउन लगाने का निर्णय लिया है. मुझे विश्वास है कि 9 दिन के लॉकडाउन के बाद हम शहर में कोरोना वायरस के कहर को ब्रेक लगाने में कामयाब होंगे.उन्होंने कहा कि लॉकडाउन में लोगों को बड़ी कीमत चुकानी पड़ती हैं. इस लॉकडाउन का औरंगाबाद वासी पूरा फायदा उठाकर घर में रहें. घर से बाहर निकलने की कोई जरुरत नहीं है.

इमरजेंसी में 108 पर करे कॉल

सीपी चिरंजीव प्रसाद ने कहा कि आगामी 8 दिन तक और शहर में सख्त लॉकडाउन रहेगा. ऐसे में औरंगाबाद वासी अपने घरों से बिल्कुल ना निकले. अगर किसी को मेडिकल इमरजेंसी होती है तो वे तत्काल 108 टोल फ्री नंबर पर कॉल करें, या फिर निकट के पुलिस थाना में फोन कर पुलिस की मदद लें. साथ ही हर मोहल्ले में कोविड वॉलियंटर्स तथा मनपा कर्मचारी घूम रहे हैं, आप उनकी भी मेडिकल इमरजेंसी के लिए मदद ले सकते हैं. अंत में सीपी प्रसाद ने फिर एक बार लॉकडाउन का प्रथम दिन कामयाब होने को लेकर औरंगाबाद वासियों का आभार माना है.