Differences within Mahavikas Aghadi, I accept bureaucrats as responsible for 'rift' - Ashok Chavan

औरंगाबाद. राज्य में तत्कालीन फडणवीस सरकार के कार्यकाल में मराठवाडा के विकास को अनेदखी की गई. वर्तमान महाविकास आघाडी सरकार अलग-अलग पध्दति से जो भी निधि उपलब्ध होगा, उस निधि में मराठवाडा के विकास के लिए अधिक से अधिक निधि का प्रावधान करेंगी. सरकार को जल्द ही एशियन डेवलपमेंट बैंक से नए सड़कों के निर्माण के लिए 15 हजार करोड़ रुपए का कर्ज उपलब्ध होगा. उस कर्ज की राशि से मराठवाडा में भी बड़े पैमाने पर सड़कों के काम होंगे. यह जानकारी  राज्य के सार्वजनिक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण ने मराठवाडा वासियों को  यहां दिया. 

अतिवृष्टि के चलते मराठवाडा में बड़े पैमाने पर सड़कों की हालत खस्ताहाल होकर कई पुल बह गए. राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अतिवृष्टि के चलते हुए नुकसान से महाराष्ट्र वासियों को राहत देने  के लिए 10 हजार करोड़ के पैकेज की घोषणा की है. इस पैकेज में मराठवाडा के सड़कों और पुलों के कामों पर 550 करोड़ रुपए खर्च होंगे. अतिवृष्टी से सड़कों और पुलों की खस्ताहाल का जायजा लेने अशोक चव्हाण ने सोमवार को औरंगाबाद जिले के खुलदाबाद और फुलंब्री तहसील के कई गांवों का दौरा कर सड़कों और खस्ताहाल पुलों का जायजा लिया. उसके बाद आयोजित प्रेस वार्ता में अशोक चव्हाण ने यह जानकारी दी. 

सड़कों की मरम्मत पर 45 करोड़ की राशि खर्च की जाएगी

उन्होंने बताया कि अतिवृष्टि से मराठवाडा में हुए नुकसान के लिए संभाग के जिलाधिकारियों ने नुकसान का जायजा लेकर एक रिपोर्ट तैयार कर सरकार को भेजी थी. उस रिपोर्ट में 542 करोड़ रुपए की मांग की  गई थी. सरकार ने मराठवाडा को  550 करोड़ देने की भूमिका ली है. इसमें औरंगाबाद जिले के सड़कों और पुलों की मरम्मत पर 72 करोड़ से अधिक की राशि खर्च होंगी. जिसमें अतिवृष्टि से बदहाल हुए सड़कों की मरम्मत पर 45 करोड़ की राशि खर्च की जाएगी. 

एक कमेटी का गठन 

एक सवाल के जवाब में अशोक चव्हाण ने बताया कि कोरोना संक्रमण के पांव पसारने से सड़कों के कामों को ब्रेक लगा था. इन दिनों नेशनल हाईवे के कई काम प्रगति पर हैं. नेशनल हाईवे के 1450 किलोमीटर के 32 रास्ते पीडब्ल्यूडी विभाग के पास वर्ग किए गए है. इसमें आज तक 857 किलोमीटर के रास्तों के काम पूरे हो चुके है. एमएसआरडीसी द्वारा 554 किलोमीटर के रास्तों के काम जारी है. इन कामों पर 2 हजार 90 करोड़ रुपए खर्च होंगे. इसमें 13 काम प्रगति पर है. कई सड़कों के कामों को पूरा  करने में वन विभाग, महावितरण, नगर पालिका, नगर विकास विभाग से अडचनें आ रही है. इन अडचनों को दूर करने की जिम्मेदारी डिविजनल कमिश्नर को सौंपी गई है. राज्यस्तर पर इन सारे अडचनों को दूर करने में मुख्य सचिव के अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया हुआ है. उनके माध्यम से उन अड़चनों को दूर किया जा रहा है. 

नए सड़कों के निर्माण पर खर्च होंगे 15 हजार करोड़ 

सार्वजनिक निर्माण मंत्री अशोक चव्हाण ने बताया कि एशियन डेवलपमेंट बैंक से सरकार जल्द ही 15 हजार करोड़ की राशि कर्ज के रुप में मिलेगी. इस राशि से राज्य भर नए सड़कों का निर्माण किया जाएगा. मंत्रिमंडल की बैठक में एक प्रस्ताव लाकर  नए सड़कों के निर्माण को मंजूरी दी जाएगी.मंजूरी मिलते ही सड़कों को काम आरंभ होंगे. इस कर्ज की राशि में मराठवाडा में बड़े पैमाने पर सड़कों के काम होंगे. 

केन्द्र से मांगे 1 हजार 36 करोड़ 

चव्हाण ने बताया कि नेशनल हाईवे के अंतर्गत आनेवाले 119 किलोमीटर के रास्तों का निर्माण के लिए केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी को एक प्रस्ताव भेजकर मैंने 1 हजार 36 करोड़ की राशि मांगी है. यह राशि केन्द्र से मिलते ही मराठवाडा के कई महत्वपूर्ण सड़कों के काम पूरे किए जाएंगे. सार्वजनिक निर्माण मंत्री ने बताया कि सरकार ने औरंगाबाद के एलोरा में बनाए जा रहे शहाजी राजे भोसले स्मारक के काम को गति देने का निर्णय लिया है. इसको लेकर मैंने स्थानीय जिलाधिकारी से बातचीत की है. पुरातत्व, पर्यटन, पीडब्ल्यूडी, जिला परिषद इन विभागों में समन्वय रखकर स्मारक का काम जल्द पूरा करने के निर्देश मैंने स्थानीय जिलाधिकारी को दिए है. अंत में अशोक चव्हाण ने बताया कि वर्तमान में केन्द्र सरकार द्वारा पारित किए गए कृषि और कामगार विधेयकों को लेकर जनता में आक्रोश है. सरकार ने किसी से चर्चा न करते हुए इन विधेयकों को पारित कर किसानों और कामगारों का नुकसान किया है. ऐसे में कांग्रेस पूरे देश में इन विधेयकों के खिलाफ आंदोलन और हस्ताक्षर मुहिम चला रही है. इन आंदोलनों की दखल लेकर केन्द्र सरकार ने इन विधेयकों पर फिर विचार करने पर अशोक चव्हाण ने बल दिया. पत्रकार परिषद में कांग्रेस जिलाध्यक्ष डॉ.कल्याण काले, सेवा दल के प्रदेशाध्यक्ष विलास औताडे, पूर्व विधायक सुभाष झांबड, पूर्व विधायक नामदेव पवार आदि उपस्थित थे.