mahavitaran

– महावितरण के मुख्य अभियंता गणेशकर की जानकारी

औरंगाबाद. लॉकडाउल में ग्राहकों द्वारा किए गए बिजली इस्तेमाल की प्रत्यक्ष रीडिंग लेने के बाद कम्प्यूटरीकृत बिलिंग प्रणाली द्वारा अप्रैल/मई माह से जून तक का एक साथ दिया गया 3 माह का  बिजली बिल स्लैब बेनिफीट सहित योग्य व अचूक है. इसमें किसी प्रकार भी अतिरिक्त आकार नहीं लगाया गया है. इसलिए ग्राहकों को बिजली बिल के बारे में किसी प्रकार का संभ्रम न पालते हुए बिजली बिल भरकर महावितरण को सहयोग करने की अपील महावितरण के औरंगाबाद परिमंडल के मुख्य अभियंता सुरेश गणेशकर ने की.लॉकडाउन में बिजली बिल के बारे में संभ्रम दूर करने के लिए मुख्य अभियंता सुरेश गणेशकर ने शुक्रवार शाम  पत्रकार परिषद ली. 

ग्राहकों ने खुद से मीटर रीडिंग भेजा

उन्होंने  बताया कि कोरोना वायरस के चलते राज्य में 23 मार्च से लॉकडाउन शुरु होने के कारण महावितरण की ओर से मीटर रीडिंग, बिजली बील वितरण व बिल भरना केन्द्र बंद किए गए थे. रीडिंग बंद होने के कारण राज्य के लघुदाब ग्राहकों को एवरेज बिजली बिल  दिया गया. साथ ही वेबपोर्टल व मोबाइल एप द्वारा मीटर रीडिंग भेजने का आवाहान किया गया. इसमें काफी कम बिजली ग्राहकों ने खुद से मीटर रीडिंग भेजा. उसी तरह उन्हें बिजली इस्तेमाल का अचूक मासिक बिजली बिल दिए  जा रहे है. बचे हुए बिजली ग्राहकों को भेजे गए एवरेज बिजली बिल में बदलाव करने के लिए रीडिंग लेना जरुरी था. लॉकडाउन में छुट दिए जाने के बाद औरंगाबाद परिमंडल में 1 जून से स्थानीय प्रशासन ने परमिशन दिए परिसर में मीटर रीडिंग, बिजली बिल वितरण व भरना केन्द्र शुरु किए गए है. मीटर रीडिंग प्रत्यक्ष उपलब्ध होने के बाद बिजली ग्राहकों को लॉकडाउन समयावधि में अप्रैल/मई सहित जून माह का बिजली बिल एकत्रित भेजे जा रहे है.बिजली ग्राहकों ने लॉकडाउन के समयावधि में एवरेज बिजली बिल अदा किया हो तो जून माह में 3 माह का एकत्रित बिजली बिल में अप्रैल व मई माह में स्थिर आकार व बिजली शुल्क छोडकर बकाया रकम समायोजित की गई.

ग्राहकों की शंकाएं दूर करने सम्मेलनों का आयोजन

गणेशकर ने बताया कि बिजली बिलों के बारे में ग्राहकों के  शंकाओं को दूर करने के लिए औरंगाबाद परिमंडल के महावितरण के हर उपविभाग कार्यालय में जल्द ही ग्राहक सम्मेलनों का आयोजन किया जाएगा. ग्राहकों को प्रत्यक्ष बिजली इस्तेमाल का अचूक बिल मिले, इसके लिए   महावितरण प्रयत्नसील है. औरंगाबाद शहर के छावनी उपविभाग कार्यालय में महावितरण के अधिकारियों ने गुरुवार को ग्राहकों से संवाद साधा. साथ ही पैठण उपविभाग कार्यालय में शुक्रवार को ग्राहकों के बिजली बिल के बारे में संभ्रम दूर किया गया.