Tigress died of kidney disease
Fi

औरंगाबाद. महाराष्ट्र के औरंगाबाद शहर के चिड़ियाघर में गुर्दे की बीमारी से पीड़ित एक बाघिन की बुधवार सुबह मौत हो गई। औरंगाबाद नगर निगम आयुक्त अस्तिक कुमार पांडे ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि बाघिन के नमूने मंगलवार को कोविड-19 की जांच के लिए भेजे गए थे, जिसकी रिपोर्ट का इंतजार है। उन्होंने बताया कि साढ़े छह साल की बाघिन करीना का जन्म सिद्धार्थ चिड़ियाघर में हुआ था। अन्य एक अधिकारी ने बताया कि 21 जून से उसने खाना बंद कर दिया था, जिसके बाद उसे चिड़ियाघर स्थित अस्पताल से जाया गया, जहां से उसके खून के नमूने मंगलवार को जांच के लिए भेजे गए।

अधिकारी ने बताया कि चिड़ियाघर और पशुपालन विभाग के पशु चिकित्सक बाघिन का इलाज कर रहे थे और परभणी के ‘कॉलेज ऑफ वेटरनरी एंड एनिमल साइंसेज’ के विशेषज्ञों की एक टीम को भी उपचार के लिए बुलाया गया था। पांडे ने बताया कि बुधवार सुबह करीब पांच बजकर 20 मिनट पर उसने दम तोड़ दिया। उन्होंने कहा, ‘‘ उसके गुर्दे में संक्रमण था, जिसका इलाज जारी था। हमने उसके नमूने लिए हैं, जिसकी रिपोर्ट आनी बाकी है। कोविड-19 के मद्देनजर हम भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के दिशानिर्देशों के अनुसार आगे की औपचारिकताएं पूरी करेंगे।” शहर स्थित चिड़ियाघर से हाल ही में दो बाघों को मुम्बई के वीरमाता जीजाबाई उद्यान(भायखला चिड़ियाघर) भेजा गया था