गुलमंडी, पैठण गेट तथा कैनाट प्लेस में परिसर में जल्द बनेगा वॉकिंग प्लाजा

औरंगाबाद. शहर के प्रमुख व्यापार पेठ गुलमंडी, पैठण गेट तथा कैनाट प्लेस इन भीड़ भाड़ वाले इलाकों में वॉकिंग प्लाजा बनाने की दिशा में नियोजन करने की सूचना मनपा प्रशासक स्तिककुमार पांडेय ने दी है.

जोन निहाय पार्किंग जोन तय करने के लिए तांत्रिक सलाहकार तथा तज्ञ व्यक्तियों की समिति प्रशासक पांडेय ने गठित की. इस समिति की बैठक 26 नवंबर को डॉ. बाबासाहाब आंबेडकर संशोधन केन्द्र में प्रशासक पांडेय के अध्यक्षता में संपन्न हुई. बैठक में अतिरिक्त आयुक्त बी.बी. नेमाने, सहायक संचालक नगर रचना जयंत खरवडकर, कार्यकारी अभियंता ए.बी. देशमुख, उपायुक्त अपर्णा थेटे, सहायक आयुक्त यातायात सुरेश वानखेड़े उपस्थित थे. बैठक में पार्किंग जोन के संबध में विस्तृत चर्चा की गई. इसमें प्रमुख रूप से गुलमंडी, पैठण गेट, औरंगपुरा, कैनाट प्लेस तथा निराला बाजार इस भीड़ भाड़ वाले इलाकों में पार्किंग की जगह पर विस्तृत चर्चा की गई. प्रशासक पांडेय ने गठित की समिति के सदस्यों ने बैठक के पूर्व वरद गणेश मंदिर से निराला बाजार होते हुए औरंगपुरा तक पैदल सर्वेक्षण किया. उसके बाद आयोजित बैठक में कुछ सूचनाएं की.

शहर के सावरकर चौक के निकट निर्माण भारती के पीछे महानगर पालिका की खुली जमीन है, वहां बड़े पैमाने पर  पार्किंग जोन हो सकता. निराला बाजार के एमपी लॉ कॉलेज के सामने दुकान, होटल आदि के लिए पार्किंग की जमीन दी है, इसके बावजूद उस परिसर के व्यापारी अपने प्रतिष्ठानों के सामने वाहन पार्किंग करते हैं. उनसे चर्चा कर वाहन पार्किंग के लिए तय जमीन पर ही पार्किंग करने की सूचना की गई. बाबूराव काले चौक, निराला बाजार से औरंगपुरा इस रास्ते पर बाधा बन रहे छोटे बड़े  जैसे बंद अवस्था में पड़े सिटी बस स्थानक, महावितरण की डीपी, नर्सरी हटाने पर इस सडक के दोनों बाजू से पार्किंग के लिए अधिक जगह उपलब्ध होगी.

जाफर गेट से साप्ताहिक बाजार की जमीन का इस्तेमाल बाजार का दिन छोड़कर ट्रक तथा अन्य हैवी वाहनों के पार्किंग के लिए इस्तेमाल करना बेहतर होगा. इस परिसर में महानगर पालिका की बंद पड़ी स्कूल की जमीन पर जगह उपलब्ध हो सकती. इस पर निर्णय लेने से पूर्व स्थल दौरा आयोजित करने की सूचना प्रशासक पांडेय ने की. समिति ने दिए सभी सुझावों पर विस्तृत चर्चा करने के बाद प्रशासक पांडेय ने कहा कि इन सूचनाओं पर शहर के प्रमुख व्यापार पेठ के व्यापारियों को विश्वास में लेकर उनसे चर्चा कर अगली कार्रवाई की जाएगी. साथ ही महानगर पालिका की  पार्किंग पॉलिसी का अभ्यास उक्त समिति ने करने की सूचना भी की.