Tesla की भारत में एंट्री, बेंगलुरु में सेट किया R&D केंद्र

नई दिल्ली: सालों के इंतजार और अटकलों के बीच आखिरकार इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी टेस्ला (Tesla) ने बेंगलुरु (Bengaluru) में कंपनी का पंजीकरण (Registration) कराकर भारत में प्रवेश कर लिया है। रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज वेबसाइट (Registrar of Companies Website) पर उपलब्ध विवरण के अनुसार, टेस्ला इंडिया मोटर्स एंड एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (Tesla India Motors and Energy Private Limited) को शामिल किया गया है और पंजीकृत पता (Registered Address) लावेल रोड, बेंगलुरु (Lavelle Road, Bengaluru) में है। 

ऑटो जगत से मिल रही खबरों के मुताबिक, वैभव तनेजा (Vaibhav Taneja) टेस्ला के मुख्य लेखा अधिकारी होंगे, जबकि वेंकटरंगम श्रीराम (Venkatarangam Shriram) और डेविड जॉन फाइंस्टीन (David John Finstein) टेस्ला डायरेक्टर पदों के लिए चुने गए हैं। वहीं, कंपनी निजी अनलिस्टेड कंपनी के तौर पर रजिस्टर हुई है जिसकी अधिकृत पूंजी रु 15,00,000 और निवेशकों से ली गई पूंजी 10,00,000 रुपये तय हुई है। 

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने भी मंगलवार को ट्वीट कर यह जानकारी दी थी कि, “कर्नाटक जल्द भारत में ग्रीन मोबिलिटी का नेतृत्व करेगा एल्क्ट्रिक वाहन निर्माता टेस्ला जल्द ही बेंगलुरु में अपने अनुसंधान और विकास (आर एंड डी) केंद्र की स्थापना करेगा। मैं @elonmusk का भारत और कर्नाटक में स्वागत करता हूँ। उन्हें बहुत शुभकामनाएं।” 

फिलहाल, टेस्ला की बिक्री टीमें वर्तमान में भारत के बाजार के लिए कस्टम बिक्री और उत्पादन आदेशों (Custom Sales and Production Orders) के निर्माण पर काम कर रही हैं, यह सुनिश्चित करते हुए कि कॉन्फ़िगरेशन समाप्त होने के बाद ऑर्डर पूर्ण हों।

खबरें हैं कि, टेस्ला अन्य राज्य सरकारों जैसे महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश के साथ भी संपर्क में है ताकि वह अपना भारत पूरी तरह से स्थापित हो सके। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने पिछले महीने कहा था कि, टेस्ला 2021 की शुरुआत में बिक्री के साथ परिचालन शुरू करेगी और फिर ‘शायद’ देश में वाहनों की असेंबलिंग और विनिर्माण भी देखने को मिलेगा।